0

Whatsapp Hack Hone Se Kaise Bachaye

Whatsapp
 
दोस्तों, आजकल हर किसी के पास स्मार्टफोन है और ज्यादातर लोग Whatsapp तो जरूर यूज करते होंगे। व्हाट्सएप्प से हम दुनिया के किसी भी कोने मे कोई भी मैसेज, फोटो, विडियो और डॉक्युमेंट Send कर सकते हैं।
 
इसके अलावा ज्यादातर लोग व्हाट्सएप्प का यूज पर्सनल चैट/मैसेज के लिए भी करते हैं। हम सभी ये मानकर चलते हैं कि व्हाट्सएप्प सुरक्षित है और हमारा चैट कोई भी नही पढ सकता। अब तो व्हाट्सएप्प ने भी End-to-End Encryption Security Enable कर के व्हाट्सएप्प को और भी ज्यादा Secure कर दिया है।
End-to-End Encryption Security फीचर्स Launch कर के व्हाट्सएप्प ने दावा किया है कि अब आपका मैसेज आपके और मैसेज Receive करने वाले के अलावा और कोई नही पढ सकता यहाँ तक कि व्हाट्सएप्प भी नही। ये बात पूरी तरह से सच भी है।
 
लेकिन जैसा कि आप सभी जानते हैं जब भी मार्केट मे कोई नई Technology आती है तो अगले दिन उसका कोई न कोई तोड़ भी आ जाता है। ठीक ऐसा ही व्हाट्सएप्प के साथ भी हुआ है। व्हाट्सएप्प कंपनी ने तो अपने तरफ से व्हाट्सएप्प को पूरी तरह से सुरक्षित कर दिया है लेकिन आपकी तरफ से हुई एक छोटी सी गलती से आपका व्हाट्सएप्प हैक हो सकता है।
 
जी हाँ, आपने सही पढा। तमाम सिक्युरीटी फीचर्स होने के बावजूद आपका व्हाट्सएप्प हैक हो सकता है। आज हम इस पोस्ट मे ये जानेंगे कि ऐसा कैसे हो सकता है और उससे बचने के लिए हमे क्या करना चाहिए?

 



व्हाट्सएप्प कैसे हैक किया जा सकता है?

How to Hack Whatsapp?

 
  1. वेरीफिकेशन कॉल या मैसेज से

जब भी हम व्हाट्सएप्प Install कर के उसमे अपना नम्बर डालते हैं तो हमारे उस नम्बर पर एक Verification कॉल या मैसेज आता है जिसमे बताये गए कोड को व्हाट्सएप्प मे डालने से व्हाट्सएप्प एक्टीवेट हो जाता है।
 
अब मान लिजिए आपके किसी जानने वाले ने अपने मोबाईल के व्हाट्सएप्प मे आपका मोबाईल नम्बर डाला और फिर उसी वक्त आपसे किसी बहाने से 1-2 मिनट के लिए आपका मोबाईल ले लिया।
 
आपका मोबाईल लेकर उसमे आए Verification Code को वो अपने मोबाईल के व्हाट्सएप्प मे डाल कर आपका व्हाट्सएप्प अपने मोबाईल मे एक्टीवेट कर लेगा और आपके मोबाईल से वो कोड डिलीट कर देगा जिससे आपको पता भी नही चलेगा कि ऐसा कोई मैसेज भी आया था।

 

  • व्हाट्सएप्प वेब से

व्हाट्सएप्प ने Whatsapp Web नाम से एक नया फीचर लांच किया है जिसकी मदद से आप अपने लैपटॉप मे भी व्हाट्सएप्प चला सकते हैं और ऐसा कर के व्हाट्सएप्प ने आप सभी के व्हाट्सएप्प हैकिंग को बहुत ही आसान बना दिया है।
 
Whatsapp Web की मदद से कोई भी आपका व्हाट्सएप्प सिर्फ 5 सेकेंड मे हैक कर सकता है। यकीन नही हुआ न? लेकिन ये बात बिल्कुल सच है।
Whatsapp Hack Hone Se Kaise Bachaye
 
कोई भी व्यक्ति या आपका परिचित अपने लैपटॉप मे Web.whatsapp.com ओपन करेगा और आपसे किसी बहाने से आपका मोबाईल लेकर व्हाट्सएप्प मे जाएगा और वहाँ से whatsapp web मे जो QR Code है उसे अपने लैपटॉप मे स्कैन कर लेगा और सिर्फ 5 सेकेंड मे आपका व्हाट्सएप्प उस व्यक्ति के लैपटॉप मे खुल चुका होगा और वो आपके जिस मैसेज को पढना चाहे उसे पढ सकता है।
 
  • चैट बैक अप से

आप सभी को पता होगा कि व्हाट्सएप्प रोज रात मे आपके पूरे चैट का बैकअप लेता है और उस फाईल को आपके व्हाट्सएप्प फोल्डर के Database फोल्डर मे Save करता है।
 
इसके अलावा आप अपने किसी भी पर्सनल चैट को किसी को भी ई-मेल कर सकते हैं वो भी फोटोज और विडियो के साथ। किसी खास चैट को ई-मेल करने के लिए Setting >> Chats >> Chat History मे जाकर ई-मेल चैट पर क्लिक करना होता है। उसके बाद आपका चैट बॉक्स खुल जाएगा, उसमे से जिस चैट को Mail करना है उसे सेलेकट कर लेना है और फिर एक ऑप्शन आएगा Without Media और Attach Media.
Whatsapp Hack Hone Se Kaise Bachaye
Whatsapp Hack Hone Se Kaise Bachaye
 
अपनी पसंद का ऑप्शन सेलेकट करने पर आपको ईमेल का ऑप्शन दिखेगा जहां आप रिसीवर का ई-मेल आईडी डाल कर उस पूरे चैट को उसे Send कर सकते हैं।
 
  • आपके फोन को Remotely कंट्रोल कर के

कुछ सॉफ्टवेयर/एप्प जैसे Teamviewr, Quick Support, Airdroid है जिनकी मदद से कोई भी आपके मोबाईल फोन को दूर बैठकर ही अपने कंप्यूटर मे चला सकता है।
 
अगर इनमे से कोई भी सॉफ्टवेयर/एप्प आपके मोबाईल मे बिना आपकी जानकारी के Install हो तो उसे उसी वक्त Uninstall कर दें। इसके अलावा कोई भी ऐसा सॉफ्टवेयर या एप्प जो आपने Install नही किया हो और फिर भी वो आपके मोबाईल मे Install दिखा रहा है तो उसे भी Uninstall कर दें।
 
ये तो मैने आपके लिये बताया लेकिन ऐसा कोई भी आपके साथ कर सकता है।
 
ये तो था व्हाट्सएप्प हैंकिंग का तरीका। ये तरीका यहाँ बताना इसलिए जरूरी था क्युँकि ऐसा कोई भी आपके साथ कर सकता है और आपको पता भी नही चलेगा लेकिन ये पोस्ट पढने के बाद आपको भी इन तरीको के बारे मे पता चल गया है तो मै उम्मीद करता हूँ आगे से आप सावधान रहेंगे।
 
अब जानते है अपने

व्हाट्सएप्प को हैक होने से बचाने के उपाए के बारे में।

Tips for Prevent Whatsapp Hacking

सबसे पहला और बेस्ट उपाए है App Lock का यूज करना। App Lock से आप अपने मैसेज, कॉल और व्हाट्सएप्प को Lock रखें, जिससे कोई भी न तो आपका मैसेज पढ पाएगा और न ही व्हाट्सएप्प खोल पाएगा।
 
अगर आपके मोबाईल मे App Lock नही है या कौन सा एप्प आपके मोबाईल के अच्छा रहेगा, ये तय नही कर पा रहे हैं तो हमारा ये पोस्ट जरूर पढें:- Best Applock For Android
 
दूसरा उपाए– किसी ने आपके व्हाट्सएप्प का QR Code स्कैन किया है या नही ये चेक करने के लिए आप अपने व्हाट्सएप्प के व्हाट्सएप्प वेब मे जाईये जो कि सेटिंग के ऊपर मिलेगा।
Whatsapp Hack Hone Se Kaise Bachaye
 
अगर आपका QR Code स्कैन हुआ है तो वहाँ Logged In Computers लिखा आएगा और विन्डोज का नाम भी लिखा होगा, साथ मे Last Active भी दिखेगा। आपको सिर्फ इतना करना है कि वहाँ Logged Out From All Computers लिखा होगा, उस पर टच कर देना है।
 
टच करते ही आप सभी कंप्यूटर्स/लैपटॉप्स से Logout हो जाइएगा।
 
तीसरा उपाएTwo-Step Verification. व्हाट्सएप्प ने अभी कुछ दिन पहले ही Two-Step Verification फीचर्स एड किया है। ये अब तक का सबसे सिक्योर फीचर्स माना जा रहा है।
Whatsapp Hack Hone Se Kaise Bachaye
 
इसके लिए सबसे पहले आपको अपने व्हाट्सएप्प को अपडेट करना होगा। उसके बाद आप व्हाट्सएप्प के Setting >> Account मे जाइए। वहाँ Two-Step Verification लिखा दिखेगा। उसे टच करिये। अब आपके सामने एक स्क्रीन आएगा जिस पर Enable लिखा होगा। Enable पर टच करने पर आपसे आपकी पसंद का 6 डिजिट कोड सेट करने को कहा जाएगा।
 
कोड सेट करते ही ई-मेल पूछा जाएगा जो कि ऑप्शनल है आप चाहे तो ई-मेल नही भी दे सकते है।

 

इस Two-Step Verification का सबसे बड़ा फायदा ये है कि अगर कोई आपके मोबाईल से किसी भी तरह आपका व्हाट्सएप्प कोड चुरा ले और फिर अपने मोबाईल मे आपका व्हाट्सएप्प खोलना चाहे तो व्हाट्सएप्प उससे वो 6 डिजिट कोड मांगेगा जो आपने Two-Step Verification मे सेट किया था।
 
अब उस व्यक्ति को तो आपका कोड मालूम होगा नही तो वो चाह कर भी आपका व्हाट्सएप्प खोल नही पाएगा।
 
दोस्तों, ये था व्हाट्सएप्प हैकिंग Tricks और उससे बचने का उपाय। उम्मीद करता हूँ आपको आज का पोस्ट पसंद आया होगा। कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कमेंट या ई-मेल कर के जरूर बताएं और हमारे पोस्ट को अपने इनबॉक्स मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब करना मत भुलिएगा। धन्यवाद!!!!

Isey Bhi Padhein

loading…



3

Best Applock for Android

Best Applock for Android
Dosto, Aap sabhi Smartphone jarur use karte honge. Aapme se bahut logo ko Smartphone thik se handle karne bhi nahi aata hoga matlab Call karna ya receive karna. Message karna, Whatsapp, Facebook chalane ke alawa uske security se related baate pata nahi hogi.
 
Aaj har kisi ke paas Android ya iOS Smatphone hai or har koi usme apne jarurat ke anusar Photos, Videos, Files etc rakhta hai. Unme se kuch files aisi bhi hoti hai jo hum nahi chahte ki koi or usey dekhe ya padhe.
Best Applock for Android
Aisi files ko hum lock kar ke secure karna chahte hain lekin sahi jankari nahi hone ke karan hum koi bhi App Lock use kar lete hai jis karan hamari files/data bhi corrupt ho jata hai.
 
Aaj Mai aapko kuch aise apps ke bare me bataunga jo na sirf aapke files ko unwanted persons se secure karte hai balki aapke files ko corrupt hone se bhi bachate hai.

 Isey Bhi Padhein: UC News Me Site Ko Kaise Submit Kare

Aaiye jante hai in Apps ke bare me.

Top 5 Best Applock for Android

1) AppLock

Best App lock for Android
 
AppLock bahut hi achcha or easy to use App hai. Iske jariye kisi bhi app ko lock karne ke liye hame password set karna padta hai, iske alawa Pattern lock ka bhi use kiya ja sakta hai. Iske naye version me Finger print lock ki bhi suvidha hai lekin ye facility Android 6.0+ OS wale Smart Phone ke liye available hai.
 
AppLock se sirf app hi nahi Image or Video bhi hide kiya ja sakta hai. Isse hide kiye gaye Image or Video, Gallery me bhi show nahi hota hai.</2span>
 
AppLock me invisible Pattern Lock hai jisse hum kisi ke samne pattern lock kholte bhi hai to usey hamara pattern nahi dikhega.
 

Iske alawa hum AppLock se kisi bhi App ke icon ko hide bhi kar sakte hai, kisi dusre person ke dwara apne app ko uninstall hone se bacha sakte hain, yaha tak ki hum AppLock ko better look dene ke liye AppLock Screen ka background bhi change kar sakte hain. Niche diye gaye Download Button par click kar ke aap ye APP download kar sakte hain.


Best Applock for Android

2) Clean Master

Best App lock for Android
Clean Master ek Multipurpose App hai. Is App me App Lock ke alawa Antivirus, Junk File Cleaner, Phone Booster etc bhi maujud hai. 
 
Ye app apne aap me ek complete package hai jo aapko kai sare alag-alag apps install karne se chhutkara dilata hai. Yahi karan hai ki ye App aaj ke samay me jyadatar logo ke mobile me maujud hai.
 
Iske AppLock ki ek khas baat hai ki agar koi person aapka Smartphone lekar locked app ko galat password/pattern dal kar kholne ki kosis karta hai to ye app uski selfie le leta hai or us person ko pata bhi nahi chalta hai.
 
Agar aap extra apps install karne se bachna chahte hain to Clean Master aapke liye sabse best rahega.

3) Leo Private Zone

Best App lock for Android


Ye bhi ek Multipurpose App hai. Is App se aap apne Apps ko lock kar sakte hai, sath hi Images or Videos ko bhi Gallery se hide kar sakte hain. Ye app bhi intruder ki selfie le sakta hai.
 
Is app me aapko Private Browsing ki bhi facility mil rahi hai wahi iska sabse bada feature hai Anti-theft. Is feature ki sahayata se aap apne chori ho chuke smart phone ko bhi google map par locate kar sakte hain.
 
Isme Phone Booster or Call Blocker ki facility bhi hai. Agar aap App lock ke sath-sath Private browsing bhi karna chahte hain to ye App aapke liye hai.


4) Perfect AppLock (App Protector)

Best App lock for Android
Ek aur sabhi khubiyo se bhara perfect app. Perfect AppLock aapke Apps ko to lock karta hi hai sath hi iske jariye aap apne incoming or outgoing calls bhi lock kar sakte hai jisse koi dusra person aapke Smartphone se Call Dial ya Receive na kar sake.
 
Iske alawa aap is App se apne Wifi, Bluetooth, Mobile Data, USB bhi lock kar sakte hain. Phone chori hone par aap sirf ek SMS apne Smart Phone par send kar ke AppLock service start kar sakte hain.
 
Ye app 3 baar galat password dalne par us person ka selfie le leta hai. Agar aap App ke alawa apne Call or Mobile Data Lock karna chahte hain to aapko ye App jrur install karna chahiye.

5) App Locker – Lock Any App

Best App lock for Android
Again All in One App. Ye App aapke Photos, Videos, Documents, Apps sabhi ko lock kar sakta hai, iske alawa aap apne calls, SMS, E-Mails ko bhi aap lock kar sakte hain.
 
Is app ki sabse khas baat ye hai ki isse aap apne sabhi apps ko individually lock kar sakte hain. Matlab agar aapne apna Smart Phone unlock kar ke kisi ko use karne ke liye diya to aap jis app ko unlock karenge, dusra person sirf usi app ko use kar payega, agar vo koi or app open karna chahega to usey vo app locked dikhega.
 
Agar aap apna password bhul jate hain or aapke phone me internet connection bhi nahi hai, aise me ye app aapko offline pasword recovery ka option bhi deta hai.
 
Dosto, AppLocks app to bahut sare hai lekin upar bataye gaye Apps Multipurpose hai jo App lock karne ke alawa or bhi kai kaam kar sakte hai.
 
Maine apni taraf se best AppLock ke bare me batane ki puri kosis ki hai. Agar aapki nazar me or bhi koi isse badhiya AppLock hai to mujhe comment kar ke jarur bataiyega.
 
Ummid Karta hu aapko ye post pasand aaya hoga. Agar koi Sawal ya Sujhav ho to jarur bataiyega. Thank You.

Isey Bhi Padhein

loading…


0

अपने चोरी हुए मोबाईल का पता लगाएं इस आसान तरीके से


How to locate our lost mobile by using Google

दोस्तों, आप सभी के पास महँगे स्मार्टफोन होंगे और जब आप उन्हे लेकर बसों में या भीड़ भरे रास्तों पर चलते होंगे तो आपको इस बात का डर जरूर लगता होगा कि कहीं आपका स्मार्टफोन चोरी न हो जाए। कई बार जिनका स्मार्टफोन चोरी हो जाता है वो चाह कर भी कुछ नही कर पाते हैं।



आज मैं आपको एक ऐसे ट्रिक के बारे में बताउंगा जिससे आप अपने खोये हुए स्मार्टफोन का कुछ हीं मिनटों में पता लगा लेंगे और यही नही आप दूर बैठे रह कर हीं अपने स्मार्टफोन को न सिर्फ लॉक कर पायेंगे बल्कि उसमे मौजूद सारा डाटा भी डिलिट कर सकेंगे। ये सब करने के लिए आपको किसी भी बाहरी एप्प को इंस्टाल करने की जरूरत नही है। यह एप्प हमारे फोन में ही होता है और उसका नाम है Android Device Manager.


➤ एंड्रायड डिवाइस मैनेजर क्या है?

➤ What is Android Device Manager?

हम सभी के एंड्रायड फोन में एक एप्प होता है Android Device Manager. यह हमारे डिवाइस में पहले से ही Inbuilt आता है लेकिन इसके बारे में पता नही होने के कारण हम इसका सही उपयोग नही कर पाते हैं। यह एप्प हमारे मोबाईल की लोकेशन बताता है और इसकी मदद से हम अपने डिवाइस को Lock कर सकते हैं और अपने मोबाईल का सारा डाटा को डिलिट भी कर सकते हैं लेकिन इसके लिए जरूरी है कि मोबाईल गुम होने से पहले आपने इसे Activate कर रखा हो। 

मैने अपने पिछले पोस्ट मोबाईल खरीदते हीं करे ये जरूरी काम में इसके बारे में थोड़ा सा बताया भी था। आज मैं इस पर पूरी डिटेल में चर्चा करूँगा।




आईये जानते हैं कि 

➤ एंड्रायड डिवाइस मैनेजर को कैसे एक्टीवेट करें 

➤ How to Activate Android Device Manager?

Step#01 सबसे पहले आप अपने एंड्रायड फोन के सेटिंग में जाएँ। अगर आपके एंड्रायड में Marshmallow ऑपरेटिंग सिस्टम है तो ये स्टेप फॉलो करें। Setting >> Security >> Device Administrators >> Android Device Manager. दूसरे वर्जन में भी लगभग यही स्टेप रहेगा।
How to Locate our lost mobile by using Google

इसे भी पढ़ें:- मोबाईल खरीदने से पहले रखे इन बातों का ध्यान

Step#02 Device Administration के अन्दर जाने पर आपको एंड्रायड डिवाइस मैनेजर दिखेगा। आपको उसके सामने वाले बॉक्स को चेक (✔) कर देना है। इससे वो एक्टिवेट हो जाएगा।

How to Locate our lost mobile by using Google
How to Locate our lost mobile by using Google


Step#03 अब जब आपका एंड्रायड डिवाइस मैनेजर एक्टीवेट हो चुका है तब वो सही से काम कर रहा है या नही ये चेक करने के लिए आप अपने कप्यूटर/लैपटॉप/किसी दूसरे फोन से एंड्रायड डिवाइस मैनेजर के वेबसाईट (Click Here) पर Login करें। यहाँ इस बात का ध्यान रखें कि आपको उसी ईमेल से लॉगिन करना है जिससे आपने अपने एंड्रायड डिवाइस में Login कर रखा है।



Step#04 जैसे हीं Login हो जाएगा, ये आपके डिवाइस से कनेक्ट करने लगेगा और कनेक्ट होते हीं गूगल मैप्स पर आपके डिवाइस की लगभग Accurate लोकेशन दिखा देगा। थोड़ी-बहुत Accuracy का फर्क हो सकता है लेकिन इतना पता चलने पर आप पुलिस की मदद से अपने डिवाइस को Locate कर सकते हैं।
How to Locate our lost mobile by using Google


Step#05 जैसा कि आप ऊपर वाले इमेज में देख सकते हैं वहाँ 3 ऑप्शन भी आ रहा है- Ring, Lock, Erase. आइये जानते हैं इनके बारे में।


Ring:- इस ऑप्शन पर क्लिक करते हीं एंड्रायड डिवाइस मैनेजर आपके मोबाईल पर Full Volume में रिंग करेगा। रिंग के वक्त वो मोबाईल स्विच ऑफ नही होना चाहिए, साइलेंट मोड मे होगा तब भी उस पर रिंग बजेगा।
How to Locate our lost mobile by using Google

Lock:- जब आप पर लॉक पर क्लिक करेंगे तो नीचे दिये गए स्क्रीन जैसा विंडो खुलेगा और उसमे आपसे एक नया पासवर्ड डालने के लिए कहा जाएगा। नए पासवर्ड को डाल कर लॉक पर क्लिक करते हीं आपके फोन का पुराना लॉक अपने आप बदल जाएगा और उसकी जगह आपके द्वारा सेट किया गया नया लॉक आ जाएगा। साथ हीं आप उस मोबाईल पर अपना मोबाईल नम्बर और मैसेज दिखा कर चुराने वाले से कह सकते हैं कि वो आपका मोबाईल लौटा दे। 

How to Locate our lost mobile by using Google

Erase:- यह Last Option है। इस ऑप्शन का यूज करने के बाद आपके मोबाईल का सारा डाटा डिलिट हो जाएगा और आपका मोबाईल बिल्कुल नये मोबाईल की तरह हो जाएगा। लेकिन साथ हीं आपक उस मोबाईल से हमेशा के लिए संपर्क टूट जाएगा क्यूँकि मोबाईल Format होने के बाद न सिर्फ आपका ई-मेल आईडी उस डिवाइस से रिमूव हो जाएगा बल्कि एंड्रायड डिवाइस मैनेजर भी Off यानि Deactivate हो जाएगा।

How to Locate our lost mobile by using Google

उम्मीद करता हूँ आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा। अगर कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट या ई-मेल के जरिये जरूर बताएँ। मेरे सभी नये पोस्ट की जानकारी अपने ई-मेल मे पाने के लिए हमे सब्सक्राईब और फॉलो करना न भूलें। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein


loading…
0

अगर आपके मोबाईल में भी ये एप्स इनस्टॉल है तो आज हीं रिमूव कर दें


Adware Malicious EWIND Apps Infected
दोस्तों, आज के समय में स्मार्टफोन हमारी जरूरत बन गया है ऐसे में उसके Security का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। Hackers हमेशा कोशिश करते रहते हैं कि वो हमारे डिवाइस में एंट्री कर के हमारे डाटा की चोरी कर सकें। इसके लिए वो हर तरीके आजमाते हैं यहाँ तक कि एप्स की मदद से वो हमारे फोन में वायरस भी Install कर देते हैं।

ऐसे हीं एक खतरे के बारे मे Researchers ने पता लगाया है। रिसर्चर्स का कहना है कि हैकर्स हमारे फोन के एप्स में दिखने वाले ऐड के जरिये ऐडवेयर डाल देते हैं और वो Adware हमारे फोन के कई फीचर्स जैसे मैसेज, कॉन्टैक्ट्स, ई-मेल, पर्सनल चैट इन सबका एक्सेस दूर बैठे हैकर्स को दे देता है और हमे पता भी नही चलता है।

Security Researchers का कहना है कि ये ऐडवेयर हमारे स्मार्टफोन के जरिए कई ऑनलाइन अकाउंट्स को खतरे में डाल सकता है। यहां तक कि वन टाइम पासवर्ड (OTP) को हासिल करके वे हमारे बैंक खातों से ट्रांजैक्शंस भी कर सकते हैं। 


➤ ऐडवेयर क्या है?

➤ What is Adware?

ऐडवेयर एक तरह का सॉफ्टवेयर होता हैं। जब यूजर ऑनलाइन होकर कोई एप्प ओपन करता है तो ये ऐडवेयर पूरे स्क्रीन को तरह-तरह के विज्ञापन (पॉप अप और बैनर वगैरह) से भर देता हैं। 

Palo Alto Networks के सिक्यॉरिटी एक्सपर्ट्स ने वायरस वाले ऐडवेयर की पहचान की है।  इस खतरनाक ऐडवेयर को Ewind नाम दिया गया है। यह न सिर्फ फोन को इन्फेक्ट करता है बल्कि हैकर्स को हमारे स्मार्टफोन का फुल रिमोट ऐक्सेस दे सकता है। यानी हैकर्स कहीं भी बैठकर इंटरनेट के जरिए हमारे स्मार्टफोन को यूज कर सकते हैं।

➤ ऐडवेयर हमारे फोन में कैसे आता है?

➤ How Does Adware Come in Our Phone?

सबसे पहले हैकर्स Original ऐंड्रॉयड ऐप्स को डाउनलोड करते हैं, उन्हें एडिट करते हैं और बीच में ऐसी कोडिंग डाल देते हैं जिससे इंस्टॉल करने वाले के स्मार्टफोन का रिमोट ऐक्सेस मिल जाए। इस तरह से यूजर को पता ही नहीं चलता कि उसने ऐप के साथ-साथ कितनी खतरनाक चीज डाउनलोड कर ली है।
Adware Malicious EWIND Apps Infected
हैकर्स कोडिंग वाले ऐप्स को थर्ड पार्टी स्टोर्स में डाल देते हैं। बहुत से लोग थर्ड पार्टी ऐप स्टोर्स पर उन ऐप्स को फ्री में डाउनलोड करने आते हैं जो गूगल प्ले स्टोर या ऐपल के ऐप स्टोर पर महंगे होते है। जैसे ही कोई यूजर इन ऐप्स को डाउनलोड करके इंस्टॉल करता है, उसके फोन का सारा संवेदनशील डेटा खतरे में पड़ जाता है।


इसे भी पढ़ें:- मोबाईल फ़ोन खरीदते हीं करें ये काम, नही तो उठाना पड़ सकता है नुकसान

Ewind को इस तरह से प्रोग्राम किया गया है कि साइबर क्रिमिनल सभी टेक्स्ट मेसेजेस का ऐक्सेस ले सकते हैं। Ewind वन टाइम पासवर्ड यानी OTP भी पढ़ सकता है और इसे हैकर्स को फॉरवर्ड भी कर सकता है। अगर आपने कहीं पर टू-स्टेप-वेरिफिकेशन ऑन की हुई है तो उसे क्रैक करने में भी हैकर्स को दिक्कत नहीं होगी। वे चाहें तो आपके अन्य अकाउंट्स, यहां तक कि बैंक अकाउंट्स में भी सेंध लगाने की कोशिश कर सकते हैं।


इसे भी पढ़ें:- URL Shortener Se Online Paise Kaise Kamaye

रिसर्चर्स का कहना है कि Ewind सिर्फ ऐडवेयर ही नही है, बल्कि यह वास्तव में एक Trojan है जो Genuine ऐंड्रॉयड ऐप्स में छिपा होता है। इस ऐडवेयर को SMS फॉरवर्ड करने की Functinality हासिल है इससे पता चलता है कि इसे बनाने का इरादा ऐडवेयर से बढ़कर कुछ करने का है। 


➤ किस तरह के ऐप्स में ज्यादा खतरा है?


➤ What Kind of Apps are in High Risk?

Palo Alto Networks का कहना है कि Ewind मैलवेयर को GTA Vice City, AVG, Minecraft और Avast! Ransomware Removal जैसे कई ऐप्स में पाया गया है। चिंता की बात यह है कि वाइरस हटाने वाले ऐप्स में ही वाइरस डाल दिया गया है। हैकर्स उन ऐप्स में Ewind को डाल रहे हैं जो बहुत लोकप्रिय हैं मगर ऑफिशल ऐप स्टोर्स पर उन्हें डाउनलोड करने के लिए पैसा देना पड़ता है।

➤ ऐडवेयर से बचने के लिए क्या करें?

➤ What to Do to Avoid Adware?


एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि जो भी एप्प डाउनलोड करना हो वो गूगल प्ले स्टोर या ऐप्पल ऐप स्टोर से ही करें, किसी थर्ड पार्टी स्टोर्स से नही। गूगल प्ले स्टोर या ऐपल ऐप स्टोर के अलावा कहीं और से डाउनलोड किए जाने वाले ऐप खतरनाक हो सकते हैं।

फिर भी किसी ऐसे ऐप को डाउनलोड करना पड़ जाए जो प्ले स्टोर और ऐप स्टोर पर न हो तो पॉप्युलर थर्ड पार्टी ऐप स्टोर्स पर ही जाएं और डाउनलोड करने से पहले उस ऐप्प का रिव्यू जरूर पढ़ें। 

अगर कोई ऐप बार-बार ऐड दिखा रहा है या उस एप्प को ओपन करते हीं आपके फोन का पूरा स्क्रीन तरह-तरह के ऐड से भर जाता हो और वे ऐड हट नहीं रहे हों, तो ऐसे एप्प को अनइंस्टॉल कर दें।

आज का ये पोस्ट कैसा लगा इस बारे में कमेंट कर के जरूर बताइयेगा। कोई सवाल या सुझाव है तो कमेंट करना न भुलें। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein


loading…
0

मोबाईल फ़ोन खरीदते हीं करें ये काम, नही तो उठाना पड़ सकता है नुकसान


6 Things You Must Do in Your New Smartphone

दोस्तों, मोबाईल आज हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गया है। अब हम चाह कर भी इससे दूर नही हो सकते हैं। एक तरह से कहा जाए तो मोबाईल भी अब हमारे परिवार के सदस्य जैसा हो गया है।

ये आपको आपके घरवालों से, दोस्तों से, रिश्तेदारों से जोड़े रखता है। यही नही आप इसके जरिये देश-दुनिया की खबर भी रखते हैं। अब जिस चीज का इतना ज्यादा उपयोग है उसका ख्याल भी तो रखना पड़ता है।


जी हाँ, मैं आपके मोबाईल/स्मार्टफोन की ही बात कर रहा हूँ। अपने पिछले पोस्ट मे मैने आपको बताया था कि मोबाईल खरीदने से पहले आपको क्या करना चाहिए। आज मैं आपको बताउंगा कि मोबाईल खरीदने के तुरंत बाद क्या करना चाहिए।

अगर आप भी जानना चाहते हैं कि मोबाईल खरीदते हीं सबसे पहले कौन सा काम करना चाहिए तो ये पोस्ट पूरा जरूर पढें।

मोबाईल फोन खरीदते हीं करें ये काम:- 


  1. टेम्पर्ड ग्लास (Tempered Glass):-
  2. 6 things you must do in your new smartphone

    मोबाईल के Screen पर टेम्पर्ड ग्लास जरूर लगवाएँ। मोबाईल का सबसे नाजुक हिस्सा होता है उसका Display। इसलिए मोबाईल लेने के साथ ही उसके ऊपर अच्छी क्वालिटी का टेम्पर्ड ग्लास जरूर लगवाएँ। 

    ध्यान रहे यहाँ बात टेम्पर्ड ग्लास की हो रही है Screen Gaurd की नही। स्क्रीन गार्ड से कहीं बेहतर होता है टेम्पर्ड ग्लास।



    इसे भी पढ़ें:- जियो लाया धन धना धन ऑफर, 3 महीने तक पाएं रोज 2 जीबी डाटा फ्री

  3. बैक कवर (Back Cover):-
  4. 6 things you must do in your new smartphone

    दुसरी सबसे Important चीज है बैक कवर। मोबाईल लेते वक्त हम कोशिश करते हैं कि हमारा कैमरा ज्यादा मेगा पिक्सेल वाला हो। 

    अब आप सोच कर देखिये कि अगर आपके पैन्ट मे रखे सिक्के या चाभी से रगड़ खा कर आपके फोन के कैमरे के लेंस पर स्क्रैच आ जाए या आपके मोबाईल के बैक पैनल पर स्क्रैच आ जाए और बैक पैनल खराब हो जाए तो आपको कैसा लगेगा?

    जाहिर सी बात है आपको अच्छा नही लगेगा। इसलिए जब आप इतना महँगा फोन खरीद ही रहे हैं तो एक अच्छी Quality का बैक कवर भी जरूर खरीद लें। ये बैक कवर न सिर्फ आपके फोन के बैक पैनल और कैमरे के लेंस को स्क्रैच से बचाएगा बल्कि मोबाईल के गिरने पर भी उसे ज्यादा नुकसान नही होने देगा।


  5. एंड्रायड डिवाइस मैनेजर (Android Device Manager):-

  6. 6 things you must do in your new smartphone

    तीसरी और सबसे जरूरी चीजों मे से एक है एंड्रायड डिवाइस मैनेजर एप्प। वैसे तो यह एप्प पहले से ही मोबाईल मे होता है लेकिन अगर आपके मोबाईल मे नही है तो यह एप्प आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

    मोबाईल लेते ही आप सेटिंग मे जाकर एंड्रायड डिवाइस मैनेजर को एक्टिव कर दें। इस एप्प की खास बात ये है कि आपका मोबाईल गुम होने या चोरी होने पर गूगल के जरिये अपने फोन का लोकेशन पता कर सकते हैं।

  7. एंटीवायरस का प्रयोग (Use of Antivirus App):-

  8. 6 things you must do in your new smartphone
    नया फोन लेने के बाद उसमे एंटीवायरस एप्प जरूर इंस्टाल करें। इससे आपके मोबाईल का डाटा और एप्प सुरक्षित रहेंगे और किसी भी प्रकार के वायरस या मैलवेयर अटैक से भी आपका मोबाईल बचा रहेगा।

    कौन सा एंटीवायरस बेस्ट है जानने के लिए ये पोस्ट जरूर पढें:- Best Android Antivirus App


  9. एप्प लॉक का प्रयोग (Use of App Lock):-
  10. 6 things you must do in your new smartphone

    आज के समय मे Privacy एक बड़ा मुद्दा बन चुका है। आज जब हम अपना मोबाईल किसी और के हाथ में देते हैं तो हमे ये डर लगा रहता है कि वो हमारे पर्सनल Photos और Videos न खोल ले। इसके अलावा व्हाट्सएप्प या दूसरे मैसेंजर पर आपके पर्सनल चैट भी पढे जाने का खतरा रहता है।

    ऐसे मे इन सबसे बचने का आसान तरीका है कि आप अपने मोबाईल मे बढिया सा एप्प लॉक इंस्टाल कर लें और उससे अपने सभी इम्पोर्टेन्ट एप्स और गैलरी को लॉक कर लें जिससे कोई दूसरा पर्सन आपके डाटा को बिना आपके इजाजत के एक्सेस न कर सके।

    कौन सा एप्प लॉक बेस्ट है इसके लिए हमारा एप्प लॉक के ऊपर लिखा ये पोस्ट जरूर पढें। Best App Lock For Android


  11. मोबाईल का बीमा करवाएँ (Mobile Insurance):-

  12. 6 Things Yous Must do in your new smart phone
    Image Sourch:- www.iamatechie.com

    जी हाँ, आपने सही पढा। आपके मोबाईल का भी बीमा हो सकता है। अगर आपने कोई बहुत ही महँगा मोबाईल/स्मार्टफोन लिया है तो उसका बीमा जरुर करवाएँ।


    आजकल बहुत सारी कँपनियाँ महँगे स्मार्टफोन्स के लिए कई तरह के बीमा ऑफर देती है जैसे फिजिकल डैमेज (यानि मोबाईल के टूट जाने पर), लिक्विड डैमेज (यानि पानी से खराब हो जाने पर), मैकेनिकल फेलियोर (यानि मोबाईल में इंटर्नल पार्ट्स जैसे रैम इत्यादि फेल होने पर)।

    ज्यादा महँगे फोन्स के रिपेयरिंग का खर्च भी बहुत ज्यादा आता है इसलिए ऐसे स्मार्टफोन्स का रिपेयर का बिल देने से अच्छा है कि आप उसका बीमा करवा लें।

    उम्मीद करता हूँ आपको ये जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेंट कर के जरूर बताएँ और हमारे आगे के सभी पोस्ट पढने के लिए हमे सब्सक्राईब और फॉलो करना न भूलेँ। धन्यवाद।

Isey Bhi Padhein


loading…
0

Reliance Jio Summer Surprise जानें क्या है पूरा ऑफर?

Reliance Jio Summer Surprise Offer

दोस्तों, आज Reliance Jio किसी परिचय का मोहताज नही रह गया है। कल तक हर कोई पूछ रहा था कि 31 मार्च 2017 के बाद जियो का क्या होगा? क्या लोग रिचार्ज कराएंगे या सिम बन्द कर देंगे। यहाँ तक कि जियो के फ्री ऑफर खत्म होने को लेकर लोगों ने जोक्स और विडियो भी बना कर सोशल साइट्स पर शेयर करने लगे थे।

हम सभी जानते हैं कि जियो का हैप्पी न्यू ईयर ऑफर 31 मार्च 2017 को खत्म होने वाला था लेकिन उससे पहले ही मुकेश अंबानी ने जियो प्राइम ऑफर दे दिया। प्राइम ऑफर के तहत हमे 99 रूपये से रिचार्ज कराना था उसके बाद हर 28 दिन पर 303 या अधिक के रिचार्ज पर हमे हैप्पी न्यू ईयर ऑफर वाली सुविधा फिर से मिलने लगती।

जियो के फ्री ऑफर खत्म होने की चर्चाओं के बीच 31 मार्च 2017 को रिलायंस जियो के चेयरमैन मि. मुकेश अंबानी ने सभी को सरप्राइज देते हुए Jio Summer Surprise Offer की घोषणा कर दी। इस ऑफर के घोषणा के साथ ही सभी जियो यूजर्स मे खुशी की लहर दौड़ गई।


➤ ऑफर पे ऑफर (Offer Pe Offer)

पहले जियो ने वेलकम ऑफर दिया जिसके तहत यूजर्स को रोज 4 जीबी डाटा, 100 एसएमएस और अनलिमिटेड कॉल मिला। ये ऑफर 31 दिसंबर 2016 को खत्म हुआ।

उसके बाद 1 जनवरी 2017 से हैप्पी न्यू ईयर ऑफर आया, इस ऑफर मे डाटा कम कर दिया गया लेकिन फिर भी यूजर्स को 31 मार्च 2017 तक अनलिमिटेड कॉल्स, 100 एसएमएस और 1 जीबी डाटा रोज मिलने लगा।

Isey Bhi Padhein

हैप्पी न्यू ऑफर के खत्म होने को लेकर अभी बातें शुरू ही हुई थी तभी जियो ने प्राइम ऑफर लांच कर दिया। इस ऑफर मे यूजर्स को 99 रूपये से रिचार्ज कराना था। इस ऑफर मे यूजर्स फ्री सुविधा का लाभ 31 मार्च 2018 तक उठा सकता है। इसके लिए सभी यूजर्स को 303 या उससे अधिक के रिचार्ज करना होगा। इस रिचार्ज पर 28 दिनों तक रोज 1 जीबी डाटा, 100 एसएमएस और अनलिमिटेड काल मिलेगा। 

अब जियो ने समर सरप्राइज ऑफर दिया है। बहुत लोगों को अभी भी ये नही मालूम होगा कि ये समर सरप्राइज ऑफर है क्या और इसे लेकर वो कंफ़्यूज भी होंगे। इस पोस्ट मे मै आपका कंफ़्यूजन दूर करने की कोशिश करूँगा।


➤ ज़ियो समर सरप्राइज ऑफर क्या है? 

➤ What is Jio Summer Surprise Offer?

31 मार्च 2017 को मुकेश अंबानी ने एक महत्वपूर्ण ऐलान करते हुए बताया कि जियो के 10 करोड से ज्यादा यूजर्स हो चुके हैं जिनमे से 7 करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने Jio Prime Membership ले लिया है। बचे हुए लोग भी प्राइम मेम्बरशिप ले सके, इसके लिए मि. अंबानी ने ज़ियो समर सरप्राईज ऑफर का ऐलान किया। 

➦ आइये जानते हैं इस ऐलान की कुछ खास बातें:- 

#1 जिन लोगों ने अभी तक जियो प्राइम की मेम्बरशिप नही लिया है वो लोग प्राइम मेम्बरशिप 15 अप्रैल तक ले सकते हैं, लेकिन आपको 99 रूपये के साथ में 303 का रिचार्ज करवाना जरुरी है।

#2 यदि किसी कस्टमर ने अभी केवल 99 का रिचार्ज करवाया हे तो उसे भी 15 अप्रैल तक 303 का रिचार्ज करवाना अनिवार्य है

#3 15 अप्रैल तक 99+303 का रिचार्ज करवाने पर उस कस्टमर को 30 जून तक फ्री डाटा और अनलिमिटेड कॉल मिलेगा, और कस्टमर द्वारा किया गया 303 का रिचार्ज 1 जुलाई से 28 दिनों के लिए एक्टीवेट हो जाएगा। 

एक लाइन मे कहा जाए तो “99 + 303 का रिचार्ज करवाने पर चार महीने यानि 1 अप्रैल से 28 जुलाई तक फ्री ऑफर (1 GB Data+ Unlimited Calls) का लाभ मिलेगा।” 
#4 जिन लोगों ने 31 मार्च तक 99+303 का Recharge करवा लिया था उन्हे भी इस ऑफर का लाभ मिलेगा, यानि 30 जून तक उन्हे भी रिचार्ज कराने की जरूरत नही पड़ेगी और उनके द्वारा कराया गया 303 रूपये या अधिक का रिचार्ज 1 जूलाई से Activate हो जायेगा जिसकी Validity 28 जूलाई तक होगी।

#5 15 अप्रैल तक जिस भी कस्टमर ने 99+303 का रिचार्ज नहीं डलवाया हे, उनके नंबर बंद कर दिए जाएंगे।

#6 जिस भी यूजर ने 303 या अन्य रिचार्ज 1 या 1 से अधिक डलवाये हैं, तो वो सभी 1 जुलाई के बाद से लागू होंगे।

#7 जिस भी कस्टमर ने 99 पर 149 का रिचार्ज कर लिया है, उन्हे भी जून तक फ्री ऑफर का लाभ लेने के लिए 15 अप्रैल तक 303 का रिचार्ज करवाना पड़ेगा। 

फ्री ऑफर के बाद 1 जूलाई से उनका 303 रूपये वाला प्लान एक्टीवेट हो जाएगा जो 28 जुलाई तक चलेगा। 28 जूलाई के बाद 149 रूपये वाला प्लान एक्टीवेट हो जाएगा।

दोस्तों, जियो के Summer Membership Plan से संबंधित जो भी अपडेट आएगा, वो हम इस पोस्ट में अपडेट करते जाएंगे। हमारे सभी पोस्ट को अपने इनबॉक्स मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब जरूर करें। अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट या ई-मेल कर के जरूर बताएँ। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein


loading…
0

10 Best Tips Smartphone Ka Battery Backup Badhane ke Liye

10 Tips to Increase Battery Backup

दोस्तों, जब भी हम स्मार्टफोन खरीदते हैं, तो सबसे ज्यादा बैटरी बैकअप पर ध्यान देते हैं। फोन में सबसे ज्यादा परेशानी बैटरी खत्म होने की ही आती है। इसलिए हम कोशिश करते हैं कि फोन की बैटरी ज्यादा पावर वाली हो जिससे हमारे फोन को लंबे समय तक चार्ज करने की जरूरत न पड़े।

हम चाहे कितने भी पावरफुल बैटरी वाला फोन क्यूँ न ले लें लेकिन कुछ समय बाद हमारे फोन का बैटरी बैकअप कम होने लगता है। हमे समझ मे ही नही आता कि ऐसा क्युँ हो रहा है?  


क्या आप जानते हैं कि बैटरी जल्दी खत्म होने में कभी-कभी हमारी लापरवाही भी जिम्मेदार होती है? हम फोन को रफ तरीके से इस्तेमाल करते हैं, जिससे फोन की बैटरी जल्दी खत्म हो जाती है या फिर बैटरी बैकअप कम हो जाता है। 

ऐसे मे कई लोग स्मार्टफोन की बैटरी को लेकर अलग-अलग तरह की अफवाहें फैलाते रहते हैं जिससे डर कर हम कई बैटरी ऑप्टीमाईजर एप्प का प्रयोग करने लगते हैं। मै सिर्फ इतना ही कहूँगा कि ऐसी अफवाहों पर ध्यान मत दीजिए और अपने मोबाईल की उचित देख-भाल करिये। 

आज मैं आपको स्मार्टफोन से जुड़े कुछ तथ्य बताने जा रहा हूँ, जो आपके फोन की बैटरी लाइफ को बढ़ाने मे मदद करेंगे।



  1. पूरी रात चार्ज न करें:-

  2. आपका फोन सिर्फ नाम का ही स्मार्टफोन नही है बल्कि वो वाकई मे स्मार्ट है। जब बैटरी फुल चार्ज हो जाता है तो यह अपने आप ही चार्जिंग लेना बन्द कर देता है। 

    लेकिन इसका मतलब ये नही है कि आप पूरी रात मोबाईल को चार्ज मे लगाये रखें। फोन चार्ज हो जाने के बाद भी ज्यादा देर तक चार्ज मे लगाए रखने से फोन के मदरबोर्ड पर असर पड़ता है और बैटरी गर्म होने लगता जिससे आपका फोन भी गर्म हो जाता है और लगातार ऐसा करते रहने पर बैटरी गर्म होकर ब्लास्ट भी हो सकता है।


    Isey Bhi Padhein:- Best Android Antivirus App


  3. डाटा और जीपीएस बंद रखें:-

  4. कुछ लोग तो ऐसे होते है जो सोते समय भी डाटा ऑफ नही करते। वही कुछ लोग जीपीएस और ब्लूटूथ को हर समय ऑन रखते हैं। ऐसा करने से फोन की बैटरी जल्दी खत्म हो जाती है। क्योंकि डाटा, जीपीएस, ब्लूटूथ इत्यादि के ऑन रहने से हमारे फोन का इंटर्नल फंक्शन इसकी कनेक्टिविटी बनाए रखने के लिए लगातार काम करते रहता है जिस कारण बिना फोन को हाथ लगाये भी उसकी बैटरी डाउन हो जाती है।


  5. बैटरी ऑप्टीमाईजिंग एप्स का प्रयोग:-

  6. जब भी हमारे फोन का बैटरी बैकअप कम होने लगता है तो कुछ लोग हमे बैटरी ऑप्टीमाईजिंग एप्स का प्रयोग करने की सलाह देते हैं लेकिन उनकी जानकारी के लिए मै बताना चाहुँगा कि ये ऑप्टीमाईजिंग एप्स रैम मे पहले से मौजूद दूसरे एप्स को क्लोज कर के रैम का स्पेस खाली करता है लेकिन बैकग्राउंड मे चल रहे एंड्रायड के गैरजरूरी फंक्शन्स को क्लोज नही कर पाता है जिस कारण बैटरी का उपयोग जारी रहता है। 

    इसके अलावा ये एप्स हमेशा बैकग्राउंड मे चलते रहते हैं इसलिए ये भी बैटरी को जल्दी डाउन करते हैं। इसलिए ये कहना कि कोई भी बैटरी ऑप्टिमाइजिंग एप्प फोन की बैटरी लाइफ को बढा देता है, बिल्कुल झूठ है।



  7. फोन को जरुरत के अनुसार चार्ज करें:-

  8. कुछ लोग कहते हैं कि फोन को बार-बार चार्ज करने से बैटरी खराब हो जाती है। ऐसे लोगों को मै बताना चाहुँगा कि फोन में मौजूद एप्स हर समय काम करती रहती हैं जिसके चलते फोन की बैटरी कम/डाउन हो जाती है। ऐसे में जब भी आपके फोन की बैटरी कम हो, आप उसे चार्ज कर सकते हैं।


  9. फोन को स्विचऑफ जरूर करें:-

  10. कई लोग बोलते हैं कि फोन को स्विचऑफ करने से फोन की बैटरी खराब हो जाती है। जबकि ऐसा नहीं है। किसी भी फोन की बैटरी स्विचऑफ करने पर खराब नहीं होता। हालांकि, फोन को बार-बार स्विचऑफ करने से फोन की बैटरी पर असर पड़ता है। 

    अगर आप एंड्रायड फोन इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको 24 घंटे मे कम से कम एक बार अपने फोन को स्विचऑफ जरूर करना चाहिए ऐसा करने से आपके फोन मे चल रहे कई गैरजरूरी इंटर्नल फंक्शन्स बन्द हो जाते हैं जिससे आपके बैटरी पर लोड कम हो जाता है, परिणामस्वरूप आपके बैटरी की लाईफ बढ जाती है।



  11. हमेशा ओरिजिनल चार्जर का इस्तेमाल करें:-

  12. फोन को चार्ज करने के लिए कभी भी लोकल चार्जर का इस्तेमाल न करें। लोकल चार्जर का मतलब है चाईनीज चार्जर या किसी सस्ते फोन का चार्जर। ऐसे चार्जर करंट के प्रवाह को कंट्रोल नही कर पाते है जिससे  जरूरत से ज्यादा पावर मिलने से हमारे फोन के बैटरी के सर्किट को नुक्सान पहुँचता है और इस कारण बैटरी बहुत जल्दी खराब भी हो जाता है।

    ब्रांडेड फोन जैसे सैमसंग, सोनी, माइक्रोसॉफ्ट इनके चार्जर दूसरे फोन को चार्ज करने मे इस्तेमाल हो सकते हैं। 

    मोबाईल फोन चार्जिंग से संबंधित डिटेल जानकारी के लिये ये पोस्ट जरूर पढें:- लोकल या दूसरे चार्जर से हमें अपना मोबाइल चार्ज क्यों नहीं करना चाहिए?


  13. चार्जिंग के वक्त फोन का इस्तेमाल कम करें:-

  14. ऐसा माना जाता है कि जब फोन चार्जिंग पर लगा हो तो उसे इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। जबकि ऐसा कहना गलत है। फोन को चार्जिंग के समय इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आप ओरिजिनल/ब्रांडेड चार्जर यूज कर रहे हैं तो आपका मोबाईल चार्ज होते समय भी बिल्कुल सुरक्षित होता है। कई बार चार्जिंग के वक्त फोन के इस्तेमाल पर विस्फोट जैसी घटना सुनने मे आई है लेकिन उसका कारण लोकल और घटिया चार्जर से फोन का चार्ज होना था।

    चार्जिंग के वक्त फोन इस्तेमाल करने से इसकी चार्ज धीरे-धीरे होने लगता है और ऐसा बार-बार करने पर आपके फोन के बैटरी की चार्जिंग क्षमता कम हो जाती है। इसके अलावा अगर आपका फोन ज्यादा गर्म होता है तो उसके पीछे फोन इस्तेमाल करने की कोई भी वजह नहीं होती। हो सकता है आपके फोन के हार्डवेयर या फिर सॉफ्टवेयर मे कोई दिक्क्त आ रही हो। ऐसा होने पर अपने फोन को कंपनी के अथोराइज्ड सर्विस सेंटर मे जरूर दिखाएं।



  15. रूम टेम्परेचर

  16. कुछ लोगों का मानना हैं कि फोन की बैटरी को बर्फ में रखने से बैटरी लाइफ बढ़ जाती है। जबकि ऐसा नहीं है। किसी भी बैटरी के लिए सबसे अच्छा टेम्प्रेचर रूम टेम्प्रेचर ही होता है।


  17. फुल चार्ज करना जरूरी नही:-

  18. जब भी हम नया फोन लेते हैं तो उसे इस्तेमाल करने से पहले फुल चार्ज कर लेते हैं, जिससे उसकी बैटरी लाइफ बढ़ जाए। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि कंपनी नया फोन आधा चार्ज करके ही क्यूँ बेचती है, वो फुल चार्ज करके भी तो दे सकती थी। इसलिए नया फोन लेने पर उसे इस्तेमाल करने से पहले फुल चार्ज करना जरूरी नही है।


  19. फोन को हीट न होने दें:-

  20. किसी भी तरह के गैजेट्स के लिए हीटिंग खतरनाक हो सकती है चाहे वह आपका स्मार्टफोन ही क्यूँ न हो। अगर आप अपने फोन को चार्ज मे लगा कर गेम खेलते हैं तब भी आपका फोन हीट हो सकता है। अगर आप कार ड्राइव कर रहे हों और अपना फोन डैशबोर्ड पर छोड़ दिये हों जहाँ सूरज की सीधी रोशनी पड़ रही है तो भी आपका फोन हीट हो जाएगा।

    कहने का मतलब है कि अगर आप अपने फोन को हीट होने से बचाएंगे तो आपके फोन की बैटरी परफारमेंस भी बढेगी और बैटरी लम्बे समय तक चलेगी।

    दोस्तों ये था बैटरी बैकअप बढाने के लिए कुछ जरूरी उपाए। अगर आपके पास भी कुछ और आइडिया हो तो हमे कमेंट कर के जरूर बताएँ और हमारे पोस्ट को अपने इनबॉक्स मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब जरूर करें। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein


0

Whatsapp Me Two-Step Verification Kaise Enable Kare

Enable Two-Step Verification Whatsapp


दोस्तों, पिछले पोस्ट मे मैने आपको बताया था कि अपना व्हाट्सएप्प हैक होने से कैसे बचाएँ। आम तौर पर व्हाट्सएप्प हैक नही किया जा सकता है क्युँकि व्हाट्सएप्प कंपनी ने इसे बहुत ही Secure बना दिया है। इस मे End-to-End Encryption भी Add कर दिया है जिससे Sender और Receiver के अलावा तीसरा कोई भी हमारे मैसेज नही पढ सके।


लेकिन व्हाट्सएप्प कंपनी भी जानती है कि वो चाहे अपनी तरफ से व्हाट्सएप्प को Secure कर ले लेकिन यूजर्स (हमारे तरफ से) कोई न कोई गलती हो ही जाती है जिससे हमारा व्हाट्सएप्प कोई और हैक कर के हमारे सारे मैसेज पढ लेता है और उसका गलत यूज भी कर सकता है।

इन्ही सब बातों को ध्यान मे रखते हुए व्हाट्सएप्प ने Two-Step Verification को भी व्हाट्सएप्प मे Add किया है।


टू-स्टेप वेरीफिकेशन क्या है?
What is Two-Step Verification in Whatsapp?

Two-Step Verification व्हाट्सएप्प द्वारा शुरू किया गया एक नया फीचर्स है। इस फीचर्स के Enable होने पर अगली बार जब आप व्हाट्सएप्प Install करेंगे तो आपको व्हाट्सएप्प Verification Code डालने के बाद Two-Step Verification Passcode डालना जरूरी होगा तभी आपका व्हाट्सएप्प ओपन होगा। 

इसके जरिये आप अपने व्हाट्सएप्प को हैक होने से आसानी से बचा सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको Two-Step Verification Enable कर के उसमे 6 डिजिट का पासकोड और अपना ई-मेल आईडी डालना होगा।


ऐसा करने पर जब भी कोई आपके नम्बर से किसी दूसरे मोबाईल मे व्हाट्सएप्प चलाना चाहेगा तो उस नम्बर का व्हाट्सएप्प Verification Code डालने के बाद उससे Two-Step Verification Passcode माँगा जाएगा जो कि उसे पता नही होगा।

पासकोड नही डालने पर वो व्यक्ति आपका व्हाट्सएप्प नही ओपन कर पाएगा और इस तरह आपका व्हाट्सएप्प हैक होने से बच जाएगा।


व्हाट्सएप्प टू-स्टेप वेरीफिकेशन कैसे Enable करें?

How To Enable Two-Step Verification in Whatsapp?

व्हाट्सएप्प ने Two-Step Verification को कुछ महीने पहले बीटा-वर्जन मे लांच कर रखा था लेकिन अब कुछ दिन पहले ही उसका Full Version लांच कर दिया है। इसलिए सबसे पहले आपको अपना व्हाट्सएप्प अपडेट करना होगा। अपडेट करने के लिए यहाँ क्लिककरे।

अगर आपने पहले ही अपडेट कर रखा है तो आप आगे के स्टेप Follow करें।

Step#1 सबसे पहले आपको व्हाट्सएप्प के Setting मे जाना है और वहाँ Account पर टच करना है।

Enable Two-Step Verification Whatsapp


Step#2 Account पर टच करते ही आपके सामने एक स्क्रीन आएगा जिसमे Privacy, Security, Two-Step Verification लिखा होगा। आपको Two-Step Verification पर टच करना है।

Enable Two-Step Verification Whatsapp

Step#3 टच करते ही आपके सामने जो स्क्रीन आएगा उसमे आपको Enable पर टच करना है।

Enable Two-Step Verification Whatsapp


Step#4 Enable पर टच करते ही अगले स्क्रीन पर आपसे 6 डिजिट का पासकोड भरने के लिए कहा जाएगा। वो पासकोड आप अपनी मर्जी से कुछ भी डाल सकते हैं लेकिन पासकोड ऐसा होना चाहिए जो आपको आसानी से याद रहे।


Step#5 पासकोड डालते ही Next पर टच करना है वहाँ आपसे पासकोड कन्फर्म करने के लिए कहा जाएगा। आपको वही पासकोड फिर से डालना है।

Enable Two-Step Verification Whatsapp


Step#6 पासकोड डालने के बाद Next करते ही आपसे आपकी ई-मेल आईडी माँगी जाएगी। आप चाहे तो उस स्क्रीन पर मौजूद Skip बटन टच कर के बिना ई-मेल आईडी डाले आगे जा सकते हैं। लेकिन मै आपसे ये कहूँगा कि आप Skip करने की बजाए अपना ई-मेल आईडी जरुर डालें क्यूँकि पासकोड भूल जाने पर आप ई-मेल आईडी के जरिये पासकोड Recover कर सकते हैं।

Enable Two-Step Verification Whatsapp


Step#7 ई-मेल आईडी डालने के बाद अगले स्क्रीन पर उसे Confirm करने के लिए फिर से वही ई-मेल आईडी डालिए।

Step#8 Confirm करते ही आपके सामने मैसेज दिखेगा- “Two-Step Verification is Enabled“. अब आपको Done पर टच कर देना है।

Enable Two-Step Verification Whatsapp


आपका Two-Step Verification Enable हो चुका है जिसका मतलब है आपका व्हाट्सएप्प अब और भी ज्यादा सुरक्षित हो चुका है। जो पासकोड आपने सेट किया था, आप चाहे तो अपनी सुविधा के लिए कही लिख कर रख लें जिससे पासकोड भुल जाने पर आपको परेशानी का सामना न करना पड़े।

यहाँ मै ये भी बता दूँ कि अगर आप अपने मोबाईल मे व्हाट्सएप्प को Uninstall कर के फिर से उसे Install करियेगा तो आपको अपने ही मोबाईल मे व्हाट्सएप्प चलाने के लिए वो पासकोड डालना जरूरी होगा।


टू-स्टेप वेरीफिकेशन डिसेबल कैसे करें?

How To Disable Two-Step Verification in Whatsapp?

ऊपर आपने Two-Step Verification Enable करना सीखा। अब मै आपको उसे Disable करने के बारे मे बताउंगा।

Step#1 सबसे पहले आप अपने व्हाट्सएप्प के Setting >> Account >> Two-Step Verification मे जाइए। वहाँ आपको 3 ऑप्शन Disable, Change Pass Code, Change E-Mail Address मिलेंगे।

Enable Two-Step Verification Whatsapp

Step#2 आप Disable पर टच कर दिजिए। टच करते ही आपसे पूछा जाएगा- “Disable Two-Step Verification?” आपको Disable पर टच कर देना है।

Step#3 टच करते ही आपका Two-Step Verification Disable हो जाएगा। अगर आप अभी भी बीटा वर्जन यूज कर रहे हैं तो उसमे आपसे Disable करने से पहले 6 डिजिट पासकोड मांगा जाएगा जिसे डालते ही आपका Two-Step Verification Disable हो जाएगा।


अगर आप अपना पासकोड Change करना चाहते हैं तो आप Change पासकोड को टच कर के पासकोड Change कर सकते हैं। उसी तरह ई-मेल आईडी Change करने के लिए आपको Change ई-मेल आईडी पर टच करना होगा।

उम्मीद करता हूँ आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया होगा। कोई सलाह या सुझाव हो तो कमेंट या ई-मेल कर के जरूर बताएँ। हमारे पोस्ट को अपने इनबॉक्स मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब जरूर करें। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein


loading…
2

Best Android Antivirus App

Best Android Antivirus App

स्मार्टफोन के बढते यूज से ये दुनिया छोटी हो गई है। स्मार्टफोन मे इंटर्नेट फैसिलिटी मिलने से जहाँ हम एक टच से ही पूरी दुनिया से कनेक्ट हो सकते हैं, दूर बैठे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों से बातें कर सकते हैं, दुनिया के दूसरे कोने मे अपनी फाईलें Send कर सकते हैं, वहीं वायरस और हैकर्स से हमारे मोबाईल और उसके डाटा को खतरा भी पैदा हो गया है।


वायरस के बारे में तो आप सभी जानते होंगे और उससे होने वाली परेशानियों से भी आपका सामना हुआ होगा। अगर हमारे स्मार्टफोन या कंप्यूटर मे वायरस आ जाता है तो हमारा पूरा सिस्टम इंफेक्टेड हो जाता है और हमारी महत्वपूर्ण फाईलें Corrupt हो जाती है और कई बार हमारा सिस्टम/मोबाईल Dead भी हो जाता है।

यही बात हैकर्स के लिए भी कही जा सकती है। हैकर्स इंटर्नेट के जरिये हमारे डिवाइस मे Unauthorized Entry कर के हमारे डाटा को चुरा लेते हैं।

अगर अभी तक आप वायरस और हैकर्स के प्रकोप से बचे हुए हैं तो ये बहुत ही खुशी की बात है लेकिन अगर आगे भी बचे रहना चाहते हैं तो हमारा ये पोस्ट आगे जरूर पढें। एन्टीवायरस के नाम पर टच करने पर आप उस एप्प डाउनलोडिंग पेज पर पहुँच जाएंगे।

➤ The Best Antivirus for Android



  1. CM Security Applock & Antivirus

  2. Best Android Antivirus App

    कई सारे फीचर्स से लैस CM Security बेस्ट एन्टीवायरस है। यह पूरी तरह से फ्री है। इस एप्प में कई सारे Useful फ़ीचर्स है यह वायरस को स्कैन करने के साथ-साथ नये एप्प, फाईल सिस्टम, मेमोरी कार्ड और वेबसाईट को भी स्कैन करता है और किसी भी तरह के Malware या वायरस डिटेक्ट होने पर उसे फिक्स भी करता है।

    यह न सिर्फ वायरस को स्कैन करता है बल्कि एप्प को Lock भी करता है और Unauthorized पर्सन द्वारा एप्प ओपेन करने की कोशिश करने पर उसकी सेल्फी भी ले लेता है।

    इसके अलावा इसमे सेफ ब्राउजिंग फ़ीचर्स भी है। अगर आप किसी ऐसे साईट पर विजिट करते हैं जिसमे Malware या Phishing की आशंका होती है तो इसका सेफ ब्राउजिंग फीचर्स उस साईट को वार्निंग के साथ ब्लॉक कर देता है।

    ये Call Blocking की फैसिलिटी भी देता है। इसके अलावा इसमे कंपनी ने Anti-Theft फीचर्स भी एड किया है। अगर आपका फोन गुम हो जाता है या चोरी हो जाता है तो CM Security की साईट पर जाकर अपने फोन को Locate भी कर सकते हैं।


  3. 360 Security

  4. Best Android Antivirus App

    एक और बेस्ट एंटीवायरस!! 10 करोड से ज्यादा बार डाउनलोड हो चुके इस एंटीवायरस में कई बेहतरीन फीचर्स हैं। यह एप्प हर तरह के Virus, Malware, Adware और Trojan से सुरक्षा देता है। नए इंस्टाल होने वाले सभी एप्प को 360 Security automatically स्कैन करता है।

    इसके अलावा इसमे जंक फाईल क्लीनर भी है जो आपके डिवाइस के यूजलेस फाइल और App Cache को डिलीट कर के स्टोरेज क्षमता बढाता है साथ ही इसका स्पीड बूस्टर आपके फोन के Ram की परफॉरमेंस को बूस्ट करता है।

    फोन की बैटरी लो होने पर ये ऑटोमेटिकली पॉवर सेविंग मोड मे चला जाता है जिससे लो बैटरी पर भी आपका फोन ऑन रहता है। इसके अलावा इसमे Anti-Theft और App-Lock फीचर्स भी है।


  5. Avast Mobile Security & Antivirus

  6. Best Android Antivirus App

    46 लाख से ज्यादा Review और 4.5 Rating के साथ Avast एन्टीवायरस भी 10 करोड से ज्यादा बार डाउनलोड हो चुका है। यह Virus, Trojan, Malware और Spyware से हमारे डिवास को सुरक्षित करता है। इसका सेफ वेब ब्राउजिंग फीचर्स किसी भी तरह के इंफेक्टेड लिंक को ब्लॉक कर देता है जिससे हमारा डिवास Secure हो जाता है।

    Avast का Wi-Fi Security फीचर्स Wi-Fi के जरिये आने वाले वायरस को रोकता है जिस वजह से हम सेफ ब्राउजिंग कर पाते हैं।

    इसके अलावा इसमे Call Blocker, App Locker, Charging Booster, Ram Booster, Junk Cleaner और Wi-Fi Test जैसी फैसिलिटी भी है।



  7. ESET Mobile Security & Antivirus

  8. Best Android Antivirus App

    कंप्यूटर के बाद Android डिवाइस पर भी इसेट Successful रहा है। लगभग 5 करोड़ डाउनलोडिंग और 4.7 रेटिंग के साथ ये कई बेस्ट एंटीवायरस को टक्कर देने की कोशिश कर रहा है। 

    एंटीवायरस जहाँ हर तरह के वायरस को Remove करता है वही अगर आपका मोबाईल गूम हो जाता है तो इसके एंटी-थेफ्ट फीचर्स मे मौजूद User IP Address Detail फीचर्स की सहायता से किसी गुम हुए मोबाईल को आसानी से Track किया जा सकता है।

    कई अच्छे फीचर्स होने के बावजूद इसेट सिर्फ 30 दिनों के लिए ही अपने प्रीमियम फीचर्स यूज करने की परमीशन देता है और अगर आपको आगे भी प्रीमियम फीचर्स यूज करना है तो इस एप्प को Purchase करना होगा। अगर आप Purchase नही करते हैं तो भी इसके बेसिक फीचर्स लाइफटाइम के लिए फ्री मे यूज कर सकते हैं।



  9. McAfee Security & Power Booster

  10. Best Android Antivirus App

    McAfee एन्टीवायरस सभी एप्प्स, फाइल्स, एसएमएस, मेमोरी कार्ड और इन्टर्नेट डाउनलोड को स्कैन करता है वहीं इसका सेफ वेब सर्फिंग Malicious लिंक और इनफेक्टेड E-Mails/Websites को ब्लॉक करता है। इसके अलावा इसका Wi-Fi Security फीचर्स Wi-Fi से आने वाले वायरस या हैकिंग Attacks को रोकता है।

    मोबाईल गूम होने पर इसका एंटी-थेफ्ट फीचर्स मोबाईल-चोर का सेल्फी लेकर उसे डिवाइस के लोकेशन के साथ आपको ई-मेल कर देता है। इसके रिमोटली वाइप डाटा फीचर्स के जरिये आप दूर बैठ कर ही अपने गुम हुए मोबाईल का सारा डाटा डिलीट कर सकते हैं।

    इसके अलावा इसमे मेमोरी क्लीन अप, बैटरी ऑप्टीमाइजर, एप्प लॉक और कॉल ब्लॉकर जैसे फीचर्स मौजूद है।



  11. Kaspersky Antivirus & Security

  12. Best Android Antivirus App

    Kaspersky एन्टीवायरस मोबाईल बैकग्राउंड मे छुपे हुए वायरस और Malware को रिमूव कर के हमारे डिवाइस को सुरक्षित करता है। इसके अलावा डाउनलोड होने वाले सभी एप्प को भी स्कैन करने के बाद ही Install होने देता है। इस एप्प मे Anti-Theft, Call Blocking और Privacy Protection जैसी सुविधा उपलब्ध है। 5 करोड़ से ज्यादा डाउनलोड और 4.7 रेटिंग के साथ कैस्पर भी यूजर्स की पसंद मे शामिल है।


  13. AVG Antivirus

  14. Best Android Antivirus App

    4.5 रेटिंग और 10 करोड से ज्यादा डाउनलोडिंग के AVG Antivirus भी लोगो की सबसे बड़ी पसंद मे से एक है। AVG App, Games और डिवाइस की सभी फ़ाइल्स को स्कैन कर के वायरस और Malware से सुरक्षा देता है। कोई भी Suspicious फाईल या एप्प हो तो उसे Quarantine कर देता है।

    इसके अलावा Suspicious लिंक को भी ब्लॉक कर देता है या सेफ पेज पर Redirect कर देता है। इसके दूसरे फीचर्स मे Wi-Fi Scanner, Analyzer, Anti-Theft, App-Lock और Mobile Optimizer है।

    39 लाख से ज्यादा लोगों ने AVG को 5 Star Rating भी दिया है जो इस एप्प की Popularity भी बताता है।



  15. Avira Antivirus Security

  16. Best Android Antivirus App

    Avira Antivirus स्मार्टफोन्स, टैबलेट, कंप्यूटर इन सभी को Virus, Trojan, Spyware और Malware से बचाता है। अगर आपका फोन चोरी हो गया है तो उसे इसके Anti-Theft और Recovery Tools की मदद से Locate करने और रिकवर करने मे भी मदद मिलती है।

    इसके अलावा इसका Identity Safeguard Tool हमारे ई-मेल और वेब-पेज को हैकर्स से हैक होने से बचाता है। लेकिन इसके सारे फीचर्स पूरी तरह फ्री नही है। कुछ फीचर्स 30 दिन के ट्रायल के लिए होते है, ट्रायल खत्म होने के बाद उस फीचर्स को आगे यूज करने के लिए Avira का Complete Package Purchase करना होगा।

    अगर आप Purchase नही करते हैं तो भी आप Avira के फ्री बेसिक फीचर्स का लाभ उठा सकते हैं।


  17. Norton Security & Antivirus

  18. Best Android Antivirus App
    लंबे समय तक कम्प्यूटर, लैपटॉप और वेब पर No. 1 एन्टीवायरस के तौर पर राज करने वाले Nortan Security ने स्मार्टफोन के लिए भी अपना एन्टीवायरस लांच कर दिया है।

    इसका एन्टीवायरस फीचर्स Malware, Spyware और Android डिवाइस को Slow करने वाले वायरस को रिमूव करता है वहीं इसका Security फीचर्स फोन चोरी होने पर Remote Locking और Tracking की सुविधा भी देता है। साथ ही उस चोरी हुए मोबाईल का सिम कार्ड निकाल कर दूसरा सिम लगाते ही यह मोबाईल को Lock कर देता है।

    इसके अलावा इसमे Web Security, App Lock, Call Blocker की फैसिलिटी भी है। लेकिन इसके भी कुछ फीचर्स 30 दिन के ट्रायल के लिए उपलब्ध है। 30 दिन के बाद उस फीचर्स को यूज करने के लिए आपको Nortan का Complete Package Purchase करना पड़ेगा। वैसे आप इसका बेसिक फीचर्स फ्री मे भी यूज कर सकते हैं।


  19. Malwarebytes Anti-Malware

  20. Best Android Antivirus App

    Malwarebytes डिवाइस से हर तरह के Malware, Spyware और Trojan को Detect कर के उन्हे रिमूव करने मे सक्षम है। इसके अलावा अगर कोई आपको SMS मे भी किसी Infected साईट का लिंक Send करता है तो ये उसे भी Detect कर लेता है।

    लेकिन इसमे दूसरे Apps की तरह Extra Security फीचर्स जैसे Phone-Theft, Call Blocking जैसे फीचर्स नही है। 

     My Views

    अगर मैं अपनी पसंद बताउं तो मै CM Security को Install करूंगा क्युँकि वो एक Complete Package है, और उस एक एप्प को Install कर के हम कई सारे काम सिर्फ एक टच मे ही कर सकते हैं। इसके अलावा 360 Security भी लगभग वैसा ही फीचर्स देता है। इसलिये आपके लिए ये भी एक Option हो सकता है।

    उम्मीद करता हूँ आज का पोस्ट आपको पसंद आया होगा। कोई सुझाव या सवाल हो तो कमेंट कर के या ई-मेल कर के जरूर बताएँ। हमारे सभी पोस्ट को अपने Inbox मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब करना न भूलें। धन्यवाद!!!!

Isey Bhi Padhein


loading…
1

मोबाईल खरीदने से पहले रखे इन बातों का ध्यान

Important 10 Tips Before Buying Smartphone

दोस्तों, आज हर हाथ में मोबाईल आ चुका है। हर कोई हाथ मे स्मार्टफोन लिये घूम रहा है जिसमे वो जब चाहे इन्टर्नेट के माध्यम से पूरी दुनिया से जुड़ सकता है। बहुत लोग तो स्मार्टफोन के इतने आदी हो चुके हैं कि सोते-जागते, खाते-पीते हुए भी अपने मोबाईल को अपने से दूर नही करते हैं।

एक लाईन मे कहा जाए तो स्मार्टफोन आज सबकी जरूरत बन गया है। स्मार्टफोन हमारी जिन्दगी का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है तो फिर उसे खरीदते वक्त हम लापरवाही क्यूँ बरतें?


अक्सर देखा गया है कि लोग स्मार्टफोन खरीदते वक्त अपने दोस्तों और जानकारों से बात कर के उनके द्वारा सुझाए गए स्मार्टफोन खरीद लेते हैं, बिना ये सोचे कि वो फोन उनके लिए सही रहेगा या नही?

दोस्तों, आज मैं आपको इस पोस्ट में स्मार्टफोन के बारे मे कुछ बेसिक बातें बताउँगा जिससे जब आप अगली बार स्मार्टफोन खरीदने जाए तो आपको किसी और पर निर्भर रहने की जरूरत न पड़े और आप अपने पसंद का फोन खरीद सकें।

इस पोस्ट के अंत मे मै एक नॉर्मल स्मार्टफोन का Specification बताउंगा जिससे आपको अंदाजा लग जाएगा कि आपके फोन मे क्या-क्या होना चाहिए।


➤ स्मार्टफोन खरीदते वक्त रखें इन बातों का ध्यान:-


  1. ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System, OS)

  2. आजकल जितने भी स्मार्टफोन बाजार मे उपलब्ध है वो किसी न किसी ऑपरेटिंग सिस्टम(OS) के सहारे ही चलते है जैसे Android, iOS, Blackberry OS इत्यादि। लेकिन मार्केट मे सबसे ज्यादा बिकने वाला फोन है Android OS वाला स्मार्टफोन। मै इस पोस्ट मे Android फोन के बारे मे ही बताउंगा।

    Android OS वाले फोन को चलाना बहुत ही आसान होता है और उसको सपोर्ट करने वाले Apps आसानी से Google Play Store मे मिल भी जाते हैं।

    अगर आप Android फोन लेने जा रहे हैं तो इन्टर्नेट पर ये पता कर लें कि सबसे लेटेस्ट Android OS कौन सा है। अगर आपका बजट ज्यादा नही है तो आप लेटेस्ट OS वाला फोन नही खरीद पाएंगे, ऐसे मे आपको मार्केट मे सबसे ज्यादा चल रहे OS वाला फोन ही लेना सही रहेगा।

    उदाहरण के लिए, इस पोस्ट को लिखने के समय मार्केट मे Android 7.0 “Nougat” आ चुका है लेकिन फिर भी उसका पिछला वर्जन Android 6.0/6.1 Marshmallo बहुत ज्यादा बिक रहा है।

    कहने का मतलब है कि अगर आपका बजट ज्यादा नही है तो जरूरी नही है कि आप बिल्कुल लेटेस्ट OS वाला फोन ही खरीदें, उसका पिछला वर्जन भी खरीद सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे ज्यादा पुराना वर्जन जैसे Jelly Bean, Kitkat भूल कर भी न खरीदें क्यूँकि Android के नए वर्जन आने के साथ Play Store के सारे Apps के भी नए वर्जन रिलिज होते है और नया वर्जन पुराने Android OS को सपोर्ट करना बन्द कर देता है।



  3. स्क्रीन साइज (Screen Size)

  4. Important 10 Tips Before Buying Smartphone

    वैसे तो स्क्रीन साइज के मामले में सभी लोगों की पसंद अलग-अलग होती है। किसी को 4 इंच स्क्रीन वाला फोन चाहिए होता है तो किसी को 5 इंच का, कोई 6 इंच स्क्रीन साइज का फोन खरीद कर इतराता है।

    अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मै आपको यही सलाह दूंगा कि अगर आप अपने फोन से नॉर्मल काम करते हैं तो आप 5 इंच स्क्रीन वाला स्मार्टफोन ही खरीदें। इस साइज के फोन को आप आसानी से अपनी जेब मे भी रख सकते हैं।

    अगर आप गेम खेलने के शौकीन हैं या मोबाइल मे विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो 5.5 या 6 इंच स्क्रीन साइज वाला फोन आपके लिए सही रहेगा। 



  5. स्क्रीन रिजोल्यूशन और क़्वालिटी (Screen Resolution & Quality)

  6. Important 10 Tips Before Buying Smartphone

    स्मार्टफोन खरीदते वक्त ज्यादातर लोग जो सबसे बड़ी गलती करते हैं वो ये कि स्क्रीन तो बड़ा लेते हैं लेकिन Screen Resolution और Quality पर कोई ध्यान नही देता।

    अगर आप नॉर्मल यूजर है तो Screen Resolution कम से कम 720 X 1280 होना चाहिए वही पिक्सेल डेन्सिटी 300 पीपीआई (PPI= Pixels Per Inch) या उसके आस-पास (कम से कम 290) होना चाहिए, अधिक जितना हो सके। जितना ज्यादा PPI होगा, आपके मोबाईल की पिक्चर Quality उतनी ही अच्छी होगी।

    अब बात करते हैं Display Type की तो आजकल मार्केट मे कई तरह के Display Type है जैसे LCD, IPS LCD, TFT, OLED, AMOLED इत्यादि। अगर आपके फोन का Resolution कम से कम 720 X 1280 है तो आपके मोबाईल का Display Type IPS LCD होना चाहिए।

    वहीं अगर Touchscreen Type की बात करें तो Capacitive Touch Screen बढिया रहेगा।


  7. रैम (RAM)

  8. किसी भी स्मार्टफोन मे सबसे ज्यादा जरूरी चीज होती है उस फोन की RAM. आपने बहुत लोगो को ये कहते सुना होगा कि अगर आपके फोन मे RAM ज्यादा है तो आपके फोन के Hang होने के चांस बहुत कम होंगे। कभी सोचा है आपने आखिर ऐसा क्यूँ होता है?

    सबसे पहले ये जानेंगे कि मोबाईल मे RAM का क्या काम होता है?

    RAM का मुख्य काम होता है मोबाईल/कंप्यूटर के App/Software को रन करने के लिए स्पेस देना। जब भी हम कोई App ओपेन करते हैं तो वो Internal Memory से Ram मे चला जाता है। 

    अब मान लिजिए कि आपके मोबाईल का RAM है 512 एमबी और आपने एक साथ 3-4 App ओपेन कर दिया (यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि RAM का कुछ हिस्सा OS के लिए रिजर्व रहता है), ऐसे मे आपका RAM का स्पेस बिल्कुल खत्म हो जाएगा और आपका मोबाईल Hang होना शुरू हो जाएगा।

    अगर आपके मोबाईल मे 1 GB या उस से अधिक RAM है तो App को रन करने के लिए पर्याप्त स्पेस मिलेगा जिससे Hang होने के चांस कम होंगे।

    आजकल सारे स्मार्टफोन एक मल्टी-परपस डिवाइस के रूप मे आ रहे हैं यानि आप एक ही समय मे अपने मोबाईल मे गाने भी सुन सकते हैं और किसी दूसरे एप्प को भी चला सकते हैं। ऐसे मे ये जरूरी हो जाता है कि आपके मोबाईल मे भी RAM ज्यादा होना चाहिए।

    अगर आप नॉर्मल यूजर हैं तो आपके मोबाईल का RAM कम से कम 1 जीबी जरूर होना चाहिए। अगर आप मेरी राय जानना चाहेंगे तो मै यही कहूँगा कि आप कम से कम 2 GB RAM वाला फोन लें क्यूँकि मोबाईल की दुनिया मे रोज नए अपडेट हो रहे है और रोज लांच होने वाले अपडेट्स के कारण OS या App की साईज भी बढ रही है ऐसे मे अगले एक साल मे 1 GB RAM की भी कोई वैल्यू नही रह जाएगी।



  9. प्रोसेसर (Processors)

  10. RAM के साथ ही किसी भी स्मार्टफोन का सबसे जरूरी हिस्सा होता है उसका प्रोसेसर। ये मोबाईल के पूरे सिस्टम को नियंत्रित यानि कंट्रोल करता है। आप प्रोसेसर को मोबाईल का दिमाग भी कह सकते हैं।

    जब भी आप मोबाईल मे टच करके कोई App ओपेन करते हैं तो ये प्रोसेसर ही होता है जो उस एप्प को Internal Memory से Ram मे ट्रांसफर करता है। आपके टच करने से लेकर App के ओपेन होने तक की सारी जिम्मेदारी प्रोसेसर की होती है।

    प्रोसेसर जितनी ज्यादा क्षमता वाला होगा आपके फोन की इंटर्नल प्रोसेसिंग उतनी ही तेज होगी जिससे आपके फोन की स्पीड बढेगी और अगर आपके मोबाईल मे RAM भी कम से कम 2 GB का हुआ तो ये सोने पे सुहागा वाली बात हो जाएगी।

    ➤ मोबाईल मे कौन सा प्रोसेसर होना चाहिए।

    आजकल सबसे ज्यादा Quad Core, Hexa Core और Octa Core प्रोसेसर चल रहे हैं। अगर आप नॉर्मल यूजर हैं तो आपके लिए Quad Core सही रहेगा और अगर आप ज्यादा गेम खेलना पसंद करते हैं तो Octa Core बेस्ट Choice है।

    प्रोसेसर के साथ Chipset का भी महत्व है। चिपसेट टॉपिक को ज्यादा लंबा न खीचते हुए मै इतना ही कहूँगा कि Snapdragon, Intel और NVIDIA ये कुछ सबसे ज्यादा डिमांड वाले चिपसेट है। ये चिपसेट नए जमाने के Advanced प्रोसेसर के साथ मिल कर स्मार्टफोन को और भी बेहतर बना देते है।


  11. कैमरा (Camera)

  12. Important 10 Tips Before Buying Smartphone

    जब भी कोई नया स्मार्टफोन लेता है तो वो चार चीजें जरूर देखता है Screen Size, RAM, Internal Memory और Camera. अब तो मोबाईल मे ही इतने अच्छे कैमरे आने लगे है कि लोग ट्रेडिशनल कैमरे को भूल ही गए है।

    स्मार्टफोन लेते वक्त लोग सबसे ज्यादा ध्यान इस बात पर देते हैं कि कैमरा कितने मेगापिक्सेल (MP) का है। ये सही भी है और ऐसा करना भी चाहिए लेकिन उसके साथ एक चीज और हमेशा चेक करनी चाहिए वो है OIS (Optical Image Stabilization)/ Optical Zoom. 

    जब आप थोडी दूर मौजूद कोई Object का फोटो क्लिक करते हैं और फिर अपने दोस्तो को वो फोटो दिखाते हुए उसे जूम करते हैं तो वो फोटो धूंधली होने लगती है, आम भाषा मे बोलूं तो फोटो फट जाती है। ऐसा कैमरे की Zoom Quality अच्छी नही होने के कारण होता है। 

    वर्तमान समय को देखते हुए मै यही कहूंगा कि Front कैमरा कम से कम 5 मेगापिक्सल और Rear (पीछेवाला कैमरा) 13 मेगापिक्सल होना चाहिए और Optical Zoom भी कम से कम 4X होना चाहिए। 


  13. इंटर्नल मेमोरी (Internal Memory)

  14. स्मार्टफोन मे इंटर्नल स्टोरेज भी काफी मायने रखता है। आजकल जितने भी स्मार्टफोन आ रहे है वो ज्यादातर 16 GB मेमोरी वाले होते है और उसके अलावा उसमे अलग से मेमोरी कार्ड लगाने की सुविधा भी होती है जो 64 जीबी से 128 जीबी तक होती है।

    मै भी यही कहूंगा कि वही फोन लें जिसमे इंटर्नल स्टोरेज कम से कम 16 जीबी हो



  15. बैटरी बैकअप (Battery Backup)

  16. देश के लोगों की कुछ प्रमुख समस्याओं के बारे मे पूछा जाए तो मुझे लगता है लोगों की एक समस्या कमजोर बैटरी बैकअप को लेकर भी होगी।

    देखने मे आता है कि महंगे और बड़े-बड़े स्क्रीन और Specification वाला स्मार्टफोन का बैटरी बैकअप भी इतना घटिया होता है कि लोगों को अलग से पॉवर बैंक लेना पड़ जाता है।

    वैसे बैटरी की क्षमता फोन के स्पेसिफिकेशन और उसमे प्रयोग किए गए हार्डवेयर के आधार पर ही निर्धारित की जाती है। लेकिन फिर भी मै आपको यही सलाह दूंगा कि जब आप अपने लिए स्मार्टफोन लें तो उसकी बैटरी क्षमता कम से कम 2600 mAh होनी चाहिए


  17. इंटर्नेट सर्विस (Internet Service)

  18. जियो के फ्री सर्विस देने के कारण आजकल 4G फोन की मांग बढ गई है। आने वाले समय मे टेलिकॉम कंपनियाँ 4G इंटर्नेट पैक का रेट कम कर सकती है इसलिए इस बात को ध्यान मे रखते हुए जब भी आप अपना नया फोन खरीदें तो ये सुनिश्चित करें कि वो 4जी फोन ही हो। 



  19. बजट (Budget)

  20. उपर बताये गए सभी फीचर्स के अलावा जो एक चीज सबसे ज्यादा मैटर करता है वो है आपका बजट। कई बार आपको जो फोन पसंद आता है वो आपके बजट से बाहर का होता है जिस कारण आप मन मसोस कर कोई कम फीचर वाला सस्ता फोन ले लेते है और उससे एक साल मे ही परेशान होकर दूसरा अच्छा फोन खरीद लेते हैं लेकिन ऐसा करना आपको ज्यादा महंगा पड़ जाता है।

    यहाँ मै आपको ये बताना चाहूँगा कि इन्टर्नेट पर कई ऐसी वेबसाईट है जहाँ मोबाईल फोन्स के रिव्यू लिखे होते है वही अलग-अलग ऑनलाईन शॉपिंग कंपनियाँ उस फोन को कितनी कीमत पर दे रही हैं, वो भी लिखा होता है। इसलिए आप स्मार्टफोन लेने से पहले एक बार ऐसी साइट्स को जरूर विजिट करें और प्राइस Compare करने के बाद ही फोन खरीदें। आप चाहें तो ऑनलाइन Book भी कर सकते हैं लेकिन उसके लिए आपके पास क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड (एटीएम कार्ड) या Net Banking होना चाहिए।

    नीचे कुछ साइट्स के लिंक दिये गए हैं जहां विजिट कर के आप मोबाईल का प्राइस और रिव्यू देख सकते हैं।


    ऊपर किये गए विश्लेषण के आधार पर एक नॉर्मल फोन मे नीचे दी गई Specification होनी चाहिए। ये Specification मेरे पसंद पर आधारित है, आप चाहे तो अपना Specification खुद सेट कर सकते हैं।

    Operating System Android OS, v6.0 (Marshmallow)
    Screen Size 5.0 Inches
    Display Type IPS LCD
    Touchscreen Type Capacitive
    Screen Resolution 720 X 1280 Pixels
    Ram 2 GB
    Processors Quad Core (1.2 Ghz & above)
    Internal Memory 16 GB
    Camera Front 5 MP, Rear 13 MP
    Internet Service 2G/3G/4G
    Battery 2600 mAh (& Above)

    आपको ये जानकारी कैसी लगी, कमेंट कर के जरूर बताइयेगा। अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेंट या ई-मेल कर के बताना मत भुलियेगा। हमारे पोस्ट को अपने इन्बॉक्स मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब करना मत भुलियेगा। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein


loading…