1

मोबाईल खरीदने से पहले रखे इन बातों का ध्यान

स्मार्टफोन खरीदते वक्त

दोस्तों, आज हर हाथ में मोबाईल आ चुका है। हर कोई हाथ मे स्मार्टफोन लिये घूम रहा है जिसमे वो जब चाहे इन्टर्नेट के माध्यम से पूरी दुनिया से जुड़ सकता है। बहुत लोग तो स्मार्टफोन के इतने आदी हो चुके हैं कि सोते-जागते, खाते-पीते हुए भी अपने मोबाईल को अपने से दूर नही करते हैं।

एक लाईन मे कहा जाए तो स्मार्टफोन आज सबकी जरूरत बन गया है। स्मार्टफोन हमारी जिन्दगी का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है तो फिर उसे खरीदते वक्त हम लापरवाही क्यूँ बरतें?

स्मार्टफोन खरीदते वक्त
अक्सर देखा गया है कि लोग स्मार्टफोन खरीदते वक्त अपने दोस्तों और जानकारों से बात कर के उनके द्वारा सुझाए गए स्मार्टफोन खरीद लेते हैं, बिना ये सोचे कि वो फोन उनके लिए सही रहेगा या नही?

दोस्तों, आज मैं आपको इस पोस्ट में स्मार्टफोन के बारे मे कुछ बेसिक बातें बताउँगा जिससे जब आप अगली बार स्मार्टफोन खरीदने जाए तो आपको किसी और पर निर्भर रहने की जरूरत न पड़े और आप अपने पसंद का फोन खरीद सकें।

इस पोस्ट के अंत मे मै एक नॉर्मल स्मार्टफोन का Specification बताउंगा जिससे आपको अंदाजा लग जाएगा कि आपके फोन मे क्या-क्या होना चाहिए।


➤ स्मार्टफोन खरीदते वक्त रखें इन बातों का ध्यान:-


  • ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System, OS)

आजकल जितने भी स्मार्टफोन बाजार मे उपलब्ध है वो किसी न किसी ऑपरेटिंग सिस्टम(OS) के सहारे ही चलते है जैसे Android, iOS, Blackberry OS इत्यादि। लेकिन मार्केट मे सबसे ज्यादा बिकने वाला फोन है Android OS वाला स्मार्टफोन। मै इस पोस्ट मे Android फोन के बारे मे ही बताउंगा।

Android OS वाले फोन को चलाना बहुत ही आसान होता है और उसको सपोर्ट करने वाले Apps आसानी से Google Play Store मे मिल भी जाते हैं।

अगर आप Android फोन लेने जा रहे हैं तो इन्टर्नेट पर ये पता कर लें कि सबसे लेटेस्ट Android OS कौन सा है। अगर आपका बजट ज्यादा नही है तो आप लेटेस्ट OS वाला फोन नही खरीद पाएंगे, ऐसे मे आपको मार्केट मे सबसे ज्यादा चल रहे OS वाला फोन ही लेना सही रहेगा।


उदाहरण के लिए, इस पोस्ट को लिखने के समय मार्केट मे Android 7.0 “Nougat” आ चुका है लेकिन फिर भी उसका पिछला वर्जन Android 6.0/6.1 Marshmallo बहुत ज्यादा बिक रहा है।

कहने का मतलब है कि अगर आपका बजट ज्यादा नही है तो जरूरी नही है कि आप बिल्कुल लेटेस्ट OS वाला फोन ही खरीदें, उसका पिछला वर्जन भी खरीद सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे ज्यादा पुराना वर्जन जैसे Jelly Bean, Kitkat भूल कर भी न खरीदें क्यूँकि Android के नए वर्जन आने के साथ Play Store के सारे Apps के भी नए वर्जन रिलिज होते है और नया वर्जन पुराने Android OS को सपोर्ट करना बन्द कर देता है।

  • स्क्रीन साइज (Screen Size)

वैसे तो स्क्रीन साइज के मामले में सभी लोगों की पसंद अलग-अलग होती है। किसी को 4 इंच स्क्रीन वाला फोन चाहिए होता है तो किसी को 5 इंच का, कोई 6 इंच स्क्रीन साइज का फोन खरीद कर इतराता है।

अगर आप मुझसे पूछेंगे तो मै आपको यही सलाह दूंगा कि अगर आप अपने फोन से नॉर्मल काम करते हैं तो आप 5 इंच स्क्रीन वाला स्मार्टफोन ही खरीदें। इस साइज के फोन को आप आसानी से अपनी जेब मे भी रख सकते हैं।

अगर आप गेम खेलने के शौकीन हैं या मोबाइल मे विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो 5.5 या 6 इंच स्क्रीन साइज वाला फोन आपके लिए सही रहेगा।

  • स्क्रीन रिजोल्यूशन और क़्वालिटी (Screen Resolution & Quality)

स्मार्टफोन खरीदते वक्त ज्यादातर लोग जो सबसे बड़ी गलती करते हैं वो ये कि स्क्रीन तो बड़ा लेते हैं लेकिन Screen Resolution और Quality पर कोई ध्यान नही देता।

अगर आप नॉर्मल यूजर है तो Screen Resolution कम से कम 720 X 1280 होना चाहिए वही पिक्सेल डेन्सिटी 300 पीपीआई (PPI= Pixels Per Inch) या उसके आस-पास (कम से कम 290) होना चाहिए, अधिक जितना हो सके। जितना ज्यादा PPI होगा, आपके मोबाईल की पिक्चर Quality उतनी ही अच्छी होगी।

अब बात करते हैं Display Type की तो आजकल मार्केट मे कई तरह के Display Type है जैसे LCD, IPS LCD, TFT, OLED, AMOLED इत्यादि। अगर आपके फोन का Resolution कम से कम 720 X 1280 है तो आपके मोबाईल का Display Type IPS LCD होना चाहिए।

वहीं अगर Touchscreen Type की बात करें तो Capacitive Touch Screen बढिया रहेगा।


  • रैम (RAM)

किसी भी स्मार्टफोन मे सबसे ज्यादा जरूरी चीज होती है उस फोन की RAM. आपने बहुत लोगो को ये कहते सुना होगा कि अगर आपके फोन मे RAM ज्यादा है तो आपके फोन के Hang होने के चांस बहुत कम होंगे। कभी सोचा है आपने आखिर ऐसा क्यूँ होता है?


 
सबसे पहले ये जानेंगे कि मोबाईल मे RAM का क्या काम होता है?
 
RAM का मुख्य काम होता है मोबाईल/कंप्यूटर के App/Software को रन करने के लिए स्पेस देना। जब भी हम कोई App ओपेन करते हैं तो वो Internal Memory से Ram मे चला जाता है। 
 
अब मान लिजिए कि आपके मोबाईल का RAM है 512 एमबी और आपने एक साथ 3-4 App ओपेन कर दिया (यहाँ ध्यान देने वाली बात ये है कि RAM का कुछ हिस्सा OS के लिए रिजर्व रहता है), ऐसे मे आपका RAM का स्पेस बिल्कुल खत्म हो जाएगा और आपका मोबाईल Hang होना शुरू हो जाएगा।
 
अगर आपके मोबाईल मे 1 GB या उस से अधिक RAM है तो App को रन करने के लिए पर्याप्त स्पेस मिलेगा जिससे Hang होने के चांस कम होंगे।
 
आजकल सारे स्मार्टफोन एक मल्टी-परपस डिवाइस के रूप मे आ रहे हैं यानि आप एक ही समय मे अपने मोबाईल मे गाने भी सुन सकते हैं और किसी दूसरे एप्प को भी चला सकते हैं। ऐसे मे ये जरूरी हो जाता है कि आपके मोबाईल मे भी RAM ज्यादा होना चाहिए।
 
अगर आप नॉर्मल यूजर हैं तो आपके मोबाईल का RAM कम से कम 1 जीबी जरूर होना चाहिए। अगर आप मेरी राय जानना चाहेंगे तो मै यही कहूँगा कि आप कम से कम 2 GB RAM वाला फोन लें क्यूँकि मोबाईल की दुनिया मे रोज नए अपडेट हो रहे है और रोज लांच होने वाले अपडेट्स के कारण OS या App की साईज भी बढ रही है ऐसे मे अगले एक साल मे 1 GB RAM की भी कोई वैल्यू नही रह जाएगी।


  • प्रोसेसर (Processors)

RAM के साथ ही किसी भी स्मार्टफोन का सबसे जरूरी हिस्सा होता है उसका प्रोसेसर। ये मोबाईल के पूरे सिस्टम को नियंत्रित यानि कंट्रोल करता है। आप प्रोसेसर को मोबाईल का दिमाग भी कह सकते हैं।
 
जब भी आप मोबाईल मे टच करके कोई App ओपेन करते हैं तो ये प्रोसेसर ही होता है जो उस एप्प को Internal Memory से Ram मे ट्रांसफर करता है। आपके टच करने से लेकर App के ओपेन होने तक की सारी जिम्मेदारी प्रोसेसर की होती है।
 
प्रोसेसर जितनी ज्यादा क्षमता वाला होगा आपके फोन की इंटर्नल प्रोसेसिंग उतनी ही तेज होगी जिससे आपके फोन की स्पीड बढेगी और अगर आपके मोबाईल मे RAM भी कम से कम 2 GB का हुआ तो ये सोने पे सुहागा वाली बात हो जाएगी।
 
➤ मोबाईल मे कौन सा प्रोसेसर होना चाहिए।
 
आजकल सबसे ज्यादा Quad Core, Hexa Core और Octa Core प्रोसेसर चल रहे हैं। अगर आप नॉर्मल यूजर हैं तो आपके लिए Quad Core सही रहेगा और अगर आप ज्यादा गेम खेलना पसंद करते हैं तो Octa Core बेस्ट Choice है।
 
प्रोसेसर के साथ Chipset का भी महत्व है। चिपसेट टॉपिक को ज्यादा लंबा न खीचते हुए मै इतना ही कहूँगा कि Snapdragon, Intel और NVIDIA ये कुछ सबसे ज्यादा डिमांड वाले चिपसेट है। ये चिपसेट नए जमाने के Advanced प्रोसेसर के साथ मिल कर स्मार्टफोन को और भी बेहतर बना देते है।
  • कैमरा (Camera)

Important 10 Tips Before Buying Smartphone
 
जब भी कोई नया स्मार्टफोन लेता है तो वो चार चीजें जरूर देखता है Screen Size, RAM, Internal Memory और Camera. अब तो मोबाईल मे ही इतने अच्छे कैमरे आने लगे है कि लोग ट्रेडिशनल कैमरे को भूल ही गए है।
 
स्मार्टफोन लेते वक्त लोग सबसे ज्यादा ध्यान इस बात पर देते हैं कि कैमरा कितने मेगापिक्सेल (MP) का है। ये सही भी है और ऐसा करना भी चाहिए लेकिन उसके साथ एक चीज और हमेशा चेक करनी चाहिए वो है OIS (Optical Image Stabilization)/ Optical Zoom. 


 
जब आप थोडी दूर मौजूद कोई Object का फोटो क्लिक करते हैं और फिर अपने दोस्तो को वो फोटो दिखाते हुए उसे जूम करते हैं तो वो फोटो धूंधली होने लगती है, आम भाषा मे बोलूं तो फोटो फट जाती है। ऐसा कैमरे की Zoom Quality अच्छी नही होने के कारण होता है। 
 
वर्तमान समय को देखते हुए मै यही कहूंगा कि Front कैमरा कम से कम 5 मेगापिक्सल और Rear (पीछेवाला कैमरा) 13 मेगापिक्सल होना चाहिए और Optical Zoom भी कम से कम 4X होना चाहिए। 
 
  • इंटर्नल मेमोरी (Internal Memory)

स्मार्टफोन मे इंटर्नल स्टोरेज भी काफी मायने रखता है। आजकल जितने भी स्मार्टफोन आ रहे है वो ज्यादातर 16 GB मेमोरी वाले होते है और उसके अलावा उसमे अलग से मेमोरी कार्ड लगाने की सुविधा भी होती है जो 64 जीबी से 128 जीबी तक होती है।
 
मै भी यही कहूंगा कि वही फोन लें जिसमे इंटर्नल स्टोरेज कम से कम 16 जीबी हो


  • बैटरी बैकअप (Battery Backup)

देश के लोगों की कुछ प्रमुख समस्याओं के बारे मे पूछा जाए तो मुझे लगता है लोगों की एक समस्या कमजोर बैटरी बैकअप को लेकर भी होगी।
 
देखने मे आता है कि महंगे और बड़े-बड़े स्क्रीन और Specification वाला स्मार्टफोन का बैटरी बैकअप भी इतना घटिया होता है कि लोगों को अलग से पॉवर बैंक लेना पड़ जाता है।
 
वैसे बैटरी की क्षमता फोन के स्पेसिफिकेशन और उसमे प्रयोग किए गए हार्डवेयर के आधार पर ही निर्धारित की जाती है। लेकिन फिर भी मै आपको यही सलाह दूंगा कि जब आप अपने लिए स्मार्टफोन लें तो उसकी बैटरी क्षमता कम से कम 2600 mAh होनी चाहिए
 
  • इंटर्नेट सर्विस (Internet Service)

जियो के फ्री सर्विस देने के कारण आजकल 4G फोन की मांग बढ गई है। आने वाले समय मे टेलिकॉम कंपनियाँ 4G इंटर्नेट पैक का रेट कम कर सकती है इसलिए इस बात को ध्यान मे रखते हुए जब भी आप अपना नया फोन खरीदें तो ये सुनिश्चित करें कि वो 4जी फोन ही हो। 


  • बजट (Budget)

उपर बताये गए सभी फीचर्स के अलावा जो एक चीज सबसे ज्यादा मैटर करता है वो है आपका बजट। कई बार आपको जो फोन पसंद आता है वो आपके बजट से बाहर का होता है जिस कारण आप मन मसोस कर कोई कम फीचर वाला सस्ता फोन ले लेते है और उससे एक साल मे ही परेशान होकर दूसरा अच्छा फोन खरीद लेते हैं लेकिन ऐसा करना आपको ज्यादा महंगा पड़ जाता है।
 
यहाँ मै आपको ये बताना चाहूँगा कि इन्टर्नेट पर कई ऐसी वेबसाईट है जहाँ मोबाईल फोन्स के रिव्यू लिखे होते है वही अलग-अलग ऑनलाईन शॉपिंग कंपनियाँ उस फोन को कितनी कीमत पर दे रही हैं, वो भी लिखा होता है। इसलिए आप स्मार्टफोन लेने से पहले एक बार ऐसी साइट्स को जरूर विजिट करें और प्राइस Compare करने के बाद ही फोन खरीदें। आप चाहें तो ऑनलाइन Book भी कर सकते हैं लेकिन उसके लिए आपके पास क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड (एटीएम कार्ड) या Net Banking होना चाहिए।
नीचे कुछ साइट्स के लिंक दिये गए हैं जहां विजिट कर के आप मोबाईल का प्राइस और रिव्यू देख सकते हैं।
 
 
ऊपर किये गए विश्लेषण के आधार पर एक नॉर्मल फोन मे नीचे दी गई Specification होनी चाहिए। ये Specification मेरे पसंद पर आधारित है, आप चाहे तो अपना Specification खुद सेट कर सकते हैं।
 
Operating System Android OS, v6.0 (Marshmallow)
Screen Size 5.0 Inches
Display Type IPS LCD
Touchscreen Type Capacitive
Screen Resolution 720 X 1280 Pixels
Ram 2 GB
Processors Quad Core (1.2 Ghz & above)
Internal Memory 16 GB
Camera Front 5 MP, Rear 13 MP
Internet Service 2G/3G/4G
Battery 2600 mAh (& Above)
 
आपको ये जानकारी कैसी लगी, कमेंट कर के जरूर बताइयेगा। अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो हमे कमेंट या ई-मेल कर के बताना मत भुलियेगा। हमारे पोस्ट को अपने इन्बॉक्स मे पढने के लिए हमे सब्सक्राईब करना मत भुलियेगा। धन्यवाद!!

Isey Bhi Padhein

loading…